Asianet News Hindi

कौन है वह शख्स, जिसके डिजाइन पर मोदी सरकार खर्च करने जा रही 971 करोड़ रु. 2022 तक बनेगी नई संसद

संसद भवन की नई बिल्डिंग का डिजाइन गुजरात के आर्किटेक्ट बिमल पटेल ने तैयार किया है। इससे पहले बिमल गुजरात हाईकोर्ट, आईआईएम अहमदाबाद, आईआईटी जोधपुर जैसी बिल्डिंग्स का डिजाइन तैयार कर चुके हैं। उनकी कंपनी एचसीपी डिजाइन, प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने गुजरात सरकार और केंद्र सरकार के लिए कई अहम प्रोजेक्ट्स पर काम किया है।  

Architect of New Building of Indian Parliament Profile and Facts of Bimal Patel kpn
Author
New Delhi, First Published Dec 10, 2020, 3:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. संसद भवन की नई बिल्डिंग का डिजाइन गुजरात के आर्किटेक्ट बिमल पटेल ने तैयार किया है। इससे पहले बिमल गुजरात हाईकोर्ट, आईआईएम अहमदाबाद, आईआईटी जोधपुर जैसी बिल्डिंग्स का डिजाइन तैयार कर चुके हैं। उनकी कंपनी एचसीपी डिजाइन, प्लानिंग एंड मैनेजमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने गुजरात सरकार और केंद्र सरकार के लिए कई अहम प्रोजेक्ट्स पर काम किया है। आइए जानते हैं कि कौन हैं डॉक्टर बिमल पटेल, जिनके डिजाइन पर सरकार 2022 तक नई बिल्डिंग बना लेगी। 

डॉक्टर पटेल की खास डिजाइन
डॉक्टर पटेल की खास डिजाइन में अहमदाबाद का रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट, कांकरिया का री-डवलपमेंट, राजकोट रेसकोर्स री-डवलपमेंट, आरबीआई अहमदाबाद, गुजरात हाईकोर्ट, आईआईएम अहमदाबाद, आईआईटी जोधपुर जैसी कई बिल्डिंग्स शामिल हैं। 

 

35 साल का बिल्डिंग डिजाइन का अनुभव 
बिमल पटेल का जन्म 31 अगस्त 1961 को हुआ। वह गुजरात में पिछले 35 साल से वास्तुकला, शहरी डिजाइन और शहरी नियोजन का काम कर रहे हैं। वे अहमदाबाद में सीईपीटी विश्वविद्यालय के अध्यक्ष हैं और स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर भोपाल के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के अध्यक्ष हैं। उन्हें 2019 में वास्तुकला और योजना के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए पद्म श्री पुरस्कार मिला।

 

पिता के साथ काम शुरू किया
1990 में डॉक्टर पटेल ने अहमदाबाद में अपने पिता के साथ काम करना शुरू किया। उनकी पहली इमारत अहमदाबाद में द एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट के लिए डिजाइन तैयार करना था। उन्होंने 1992 में वास्तुकला के लिए आगा खान पुरस्कार जीता। पिछले कुछ सालों में उन्होंने सिंगल फैमिली होम्स, संस्थान, औद्योगिक इमारतों और शहरी पुनर्विकास परियोजनाओं के लिए काम किया। उन्होंने कांकरिया झील विकास और साबरमती रिवरफ्रंट के लिए काम किया। 

गुजरात हाईकोर्ट के लिए काम किया
उनकी महत्वपूर्ण परियोजनाओं में आगा खान अकादमी हैदराबाद, अहमदाबाद मैनेजमेंट असोसिएशन, भुज विकास योजना और टाउन प्लानिंग स्कीम्स (भूकंप के बाद), सीजी रोड पुनर्विकास, उद्यमिता विकास संस्थान, गुजरात हाईकोर्ट, आईआईएम अहमदाबाद कैम्पस शामिल हैं। कांकरिया झील विकास, साबरमती रिवरफ्रंट विकास और गांधीनगर में स्वर्णिम संकुल उनके शानदार कामों में शामिल है।

 

2019 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित
डॉक्टर पटेल को कई पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है, जिनमें आगा खान अवार्ड फॉर आर्किटेक्चर (1992), यूएन सेंटर फॉर ह्यूमन सेटलमेंट्स अवार्ड ऑफ एक्सीलेंस (1998), वर्ल्ड आर्किटेक्चर अवार्ड (2001) और प्रधानमंत्री नेशनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन अर्बन प्लानिंग एंड डिजाइन (2002) शामिल है। उन्हें 2019 में पद्म श्री पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios