नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान कहा कि मैं सभी 48 हजार झुग्गी वासियों को आश्वासन देता हूं कि जब तक आपका बेटा और आपका भाई जिंदा है, आपकी झुग्गियों को नहीं हटाया जाएगा। जब भी झुग्गियां हटाई जाएगी, उससे पहले आपको पक्का मकान मिलेगा। इसके लिए चाहे मुझे किसी के पांव पकड़ना पड़े, चाहे संघर्ष करना पड़े, लेकिन आपको हर हाल में पक्का मकान मिलकर रहेगा।

दरअसल दिल्ली हाई कोर्ट 31 अगस्त को दिल्ली - एनसीआर के रेलवे एरिया से सटी करीब 48000 झुग्गियों को 3 महीने के अंदर हटाने का आदेश दिया था। इसपर आज दिल्ली विधानसभा में केजरीवाल ने कहा कि पिछले 70 वर्षों में विभिन्न पार्टियों की सरकारों ने दिल्ली की प्लानिंग ठीक से नहीं की, उन्होंने गरीबों के लिए घर नहीं बनाए लेकिन हम यह काम करके दिखाएंगे। केजरीवाल ने यह भी कहा कि मुझे खुशी है कि केंद्र सरकार ने कोर्ट में पाॅजिटिव एफिडेविट दिया है, उसमें कहा गया है कि दिल्ली सरकार, रेलवे और अर्बन डेवलपमेंट मिनिस्ट्री, तीनों मिलकर अगले 4 हफ्ते में इसका समाधान निकालेंगे। यह एक ऐसा मुद्दा है, जिस पर हमें राजनीति करने की बजाय मिल कर काम करना चाहिए।

झुग्गियां हॉटस्पॉट ना बन जाए

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सदन में कहा कि कोर्ट से आदेश हुआ है कि 48 हजार झुग्गियों को 3 महीने के अंदर तोड़ा जाए। उन्होंने कहा कि अभी  महामारी का दौर चल रहा है और इस दौरान 48000 झुग्गियों को तोड़ना सही नहीं होगा, जब तक कोरोना पूरी तरह खत्म नहीं हो जाता, तब तक इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाना चाहिए, नहीं तो कहीं ऐसा ना हो जाए कि इन्हें हटाने के दौरान यही इलाके कोरोना के हॉटस्पॉट बन जाएं और वहां से कोरोना दिल्ली के बाकी हिस्सों में फैलने लगे।

हर झुग्गी वासी को मिलेगा पक्का घर

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि जब भी झुग्गियों को हटाया जाएगा, तब झुग्गी हटाने से पहले इनको पक्का मकान दिया जाएगा, यह सभी कानूनों के अंदर लिखा हुआ है। केंद्र सरकार द्वारा संसद से पारित चार कानून स्पेशल प्रोविजन एक्ट, ड्यूसीबी एक्टी, ड्यूसीबी पॉलिसी और ड्यूसीबी प्रोटोकाल साफ-साफ यह कहते हैं कि किसी भी झुग्गी वालों को हटाया जाएगा, तो पहले उसे पक्का मकान दिया जाएगा। हमारी सरकार आने के बाद हमने ड्यूसीबी पॉलिसी बनाई है जिसके तहत हमने उन्हें यह अधिकार दिया है कि हर झुग्गीवासी को उसकी झुग्गी के 5 किलोमीटर में ही घर मिले।

झुग्गीवासियों का दिल्ली की अर्थव्यवस्था में है अहम योगदान

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि झुग्गी में रहने वाले लोग दिल्ली की अर्थव्यवस्था में अहम भूमिका निभाते हैं। अगर एक दिन के लिए दिल्ली के सभी नेता और अफसर काम करना बंद कर दें, तो दिल्ली चल जाएगी, लेकिन अगर एक दिन के लिए दिल्ली के सारे झुग्गीवाले काम करना बंद कर दें, तो दिल्ली बंद हो जाएगी।