गुवाहाटी, असम. असम विधानसभा इलेक्शन-2021 को घमासान शुरू हो गया है। दिल्ली में दंगों की वजह बने Anti-CAA आंदोलन की हवा यहां भी नजर आने लगी है। कांग्रेस ने CAA का विरोध करते करीब एक लाख असम के पारंपरिक गमछे प्रिंट कराए हैं। इन्हें बंटवाने के बाद इन्हें पार्टी कार्यकर्ता घर-घर जाकर इकट्ठा कर रही है। इससे पहले शिवसागर में राहुल गांधी Anti-CAA प्रिंट गमछा पहने नजर आए थे।

यानी यह तय हो गया है कि असम विधानसभा चुनाव इस बार विकास के मुद्दों से कहीं अधिक CAA जैसे विषयों पर लड़ा जाएगा। इसके संकेत पिछले दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के यहां के दौरे पर भी मिल चुके हैं। मोदी ने जहां अपनी सभा में घुसपैठियों के खिलाफ आवाज बुलंद की थी।

जानें कांग्रेस की प्लानिंग...

कांग्रेस ने असम विधानसभा का चुनाव CAA(Citizenship-Amendment Act, 2019) पर लड़ने का जैसे ऐलान कर दिया है। कांग्रेस ने सीएए विरोधी संदेशों (Anti-CAA Messages) वाले एक लाख से अधिक गमछे प्रिंट कराए हैं। इन्हें पहले बांटा जा चुका है। सफेद और लाल रंग वाले असम के ये पारंपरिक गमछे अब पार्टी कार्यकर्ता डोर-टू-डोर कैंपेन के जरिए इकट्ठे कर रहे हैं। इससे बताया जा सके कि लोग सीएए के विरोध में है।

जानें पूरा मामला...
 एंटी  CAA मैसेज वाले ये गमछे पार्टी के नेताओं ने सोशल मीडिया पर भी शेयर किए हैं। ऐसा करने वालों में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के बेटे और पार्टी सांसद गौरव गोगोई भी शामिल हैं। इस बारे में असम प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा है कि एकता और समृद्ध भविष्य के लिए उनकी आशाएं जिंदा हैं। उन्होंने कहा कि ये गमछे बताते हैं कि विभाजनकारी ताकतों को जवाब देने के लिए आम लोग कांग्रेस के साथ खड़े हैं। वे उत्साहित होकर कहते हैं कि पिछले कुछ दिनों में एक लाख से अधिक गमछे इकट्ठे करना यह दिखाता है कि लोग सीएए के खिलाफ हैं।

राहुल गांधी ने अपने दौरे पर पहना था गमछा
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पिछले दिनों असम के शिवसागर जिले में एक सभा के दौरान दुहराते हुए भाजपा को चेतावनी दी थी कि वो यहां पर CAA नहीं होने देंगे।  शिवनगर बोर्डिंग फील्ड से पार्टी के चुनावी अभियान की शुरुआत करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि अवैध इमिग्रेशन एक मुद्दा है, लेकिन असम के लोग इसे सुलझा लेंगे। असम के लोगों में इसकी क्षमता है। राहुल गांधी ने कहा था कि असम के लोगों से कहा कि वे हिंदुस्तान के गुलदस्ते के फूल हैं। असम को नुकसान होगा, तो देश को नुकसान होगा।


(शिवसागर में चुनावी सभा के दौरा राहुल गांधी एंटी सीएए गमछा पहने दिखे थे, इनसेट नये गमछे)