Asianet News Hindi

अयोध्या: बिना गुंबद की बनेगी मस्जिद, एक साथ 2 हजार लोग नमाज पढ़ सकेंगे, 100 करोड़ का अस्पताल भी होगा

अयोध्या में मस्जिद की डिजायन रविवार को लॉन्च हुई। अयोध्या के धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद की डिजायन इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने लॉन्च की। मस्जिद बिना गुंबद की होगी। इसके साथ ही इसमें अस्पताल, म्यूजियम, लाइब्रेरी और एक कम्युनिटी किचन भी होगा। इस मस्जिद का नाम किसी बादशाह के नाम पर नहीं होगा। 
 

Ayodhya Mosque Blueprint First Phase of Design Entails Super Speciality Hospital KPP
Author
Ayodhya, First Published Dec 19, 2020, 9:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अयोध्या. अयोध्या में मस्जिद की डिजायन रविवार को लॉन्च हुई। अयोध्या के धन्नीपुर में बनने वाली मस्जिद की डिजायन इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने लॉन्च की। मस्जिद बिना गुंबद की होगी। इसके साथ ही इसमें अस्पताल, म्यूजियम, लाइब्रेरी और एक कम्युनिटी किचन भी होगा। इस मस्जिद का नाम किसी बादशाह के नाम पर नहीं होगा। 

फाउंडेशन के मुताबिक, अगर नक्शा सही समय पर पास हो जाता है, तो 26 जनवरी से मस्जिद का निर्माण शुरू हो जाएगा। अगर नक्शे में देर होती है तो 15 अगस्त से निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। मस्जिद के 2 साल में पूरा होने की उम्मीद है। 

एक साथ रखी जाएगी मस्जिद, हॉस्पिटल, म्यूजियम की नींव
सूत्रों के मुताबिक, मस्जिद, हॉस्पिटल, म्यूजियम सबकी नींव एक साथ ही रखी जाएगी। इसके अलावा मस्जिद में बनने वाले हॉस्पिटल पर करीब 100 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। यह अस्पताल 200-300 बेड का होगा। हॉस्पिटल 24 हजार 150 स्क्वायर मीटर में बनाया जाएगा। 

हॉस्पिटल 4 फ्लोर का बनेगा। यह चैरिटी के तौर पर काम करेगा। हालांकि, अभी इस प्रोजेक्ट के लिए क्राउड फंडिंग शुरू नहीं की गई है। हालांकि, मस्जिद के बैंक अकाउंट का ब्योरा सार्वजनिक कर दिया गया है, ताकि लोग मदद कर सकें। 

मस्जिद में 2 हजार लोग एक साथ पढ़ सकेंगे नमाज
अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के वास्तु विभाग के डीन एमएस अख्तर ने मस्जिद की डिजायन तैयार की है। उन्होंने बताया, मस्जिद 3500 स्क्वायर मीटर में बनेगी। इसमें एक साथ 2000 लोग नमाज पढ़ सकेंगे। मस्जिद 2 फ्लोर की होगी। महिलाओं के लिए अलग जगह होगी। 
 
सीएम योगी को नहीं दिया जाएगा न्योता
इंडो-इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन की वर्चुअल मीटिंग में तय हुआ है कि निर्माण की शुरुआत के वक्त योगी आदित्यनाथ को निमंत्रण नहीं भेजा जाएगा। हालांकि, जब सुविधाएं शुरू की जाएंगी, तब मुख्यमंत्री और अन्य लोगों को बुलाया जाएगा। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios