Asianet News Hindi

अमित शाह के साथ किसान नेताओं की बैठक खत्म, अब कल नहीं होगी छठवें दौर की मीटिंग, जानें क्या हुई बात

कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों के बीच छठवें दौर की बातचीत टल गई है। दरअसल, भारत बंद के बाद अमित शाह ने किसानों को बातचीत के लिए बुलाया। सरकार और किसानों के बीच लंबी बातचीत हुई। उसके बाद खबर आई कि किसान और सरकार के बीच छठवें दौर की बातचीत टल गई है। ICAR भवन में चली इस मीटिंग में 13 किसान नेता पहुंचे। बैठक के बाद किसान नेता हनन मुला ने बताया कि गृह मंत्री ने कृषि कानून पर कल लिखित प्रस्ताव देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि सरकार कानून वापस लेने के लिए तैयार नहीं है। फिलहाल कल सरकार के साथ होने वाली छठवें दौर की बातचीत टल गई है। वहीं, कल सुबह केंद्रीय कैबिनेट की बैठक भी बुलाई गई है।

Bharat bandh live news updates during farmers protests against agricultural laws kpn
Author
New Delhi, First Published Dec 8, 2020, 12:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कृषि कानूनों को लेकर सरकार और किसानों के बीच छठवें दौर की बातचीत टल गई है। दरअसल, भारत बंद के बाद अमित शाह ने किसानों को बातचीत के लिए बुलाया। सरकार और किसानों के बीच लंबी बातचीत हुई। उसके बाद खबर आई कि किसान और सरकार के बीच छठवें दौर की बातचीत टल गई है। ICAR भवन में चली इस मीटिंग में 13 किसान नेता पहुंचे। बैठक के बाद किसान नेता हनन मुला ने बताया कि गृह मंत्री ने कृषि कानून पर कल लिखित प्रस्ताव देने का आश्वासन दिया है। उन्होंने बताया कि सरकार कानून वापस लेने के लिए तैयार नहीं है। फिलहाल कल सरकार के साथ होने वाली छठवें दौर की बातचीत टल गई है। वहीं, कल सुबह केंद्रीय कैबिनेट की बैठक भी बुलाई गई है।

11 बजे से लेकर 3 बजे तक भारत बंद रहा
कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन के 13वें दिन भारत बंद रहा। मंगलवार को सुबह 11 बजे से शाम 3 बजे तक बंद रहा। इस दौरान पटना में टायर जलाने की खबर आई तो वहीं यूपी के प्रयागराज में ट्रेन रोकने की बात सामने आई. वहीं दिल्ली में सरोजनी नगर की बाजार में दुकानदारों ने किसानों के समर्थन में एकजुटता दिखाई और हाथ में काले रिबन बांधे। एक दुकानदार ने कहा, हम किसानों के समर्थन में ऐसा कर रहे हैं। सरकार एक साधारण मांग को पूरा क्यों नहीं कर सकती है। बता दें कि 20 सियासी दल और 10 ट्रेड यूनियन भारत बंद का समर्थन कर रहे थे। 

भारत बंद की बड़ी बातें...

किसान नेताओं के साथ होने वाली बैठक से पहले गृह मंत्री अमित शाह और दिल्ली पुलिस के कमिश्नर की मुलाकात हुई है। करीब आधे घंटे ये मुलाकात चली है।

राहुल गांधी सहित 5 नेता राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात
कांग्रेस सांसद राहुल गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, सीपीआई (एम) के सीताराम येचुरी समेत 5 नेता बुधवार शाम 5 बजे राष्ट्रपति कोविंद से मिलेंगे। कोविड-19 प्रोटोकॉल के कारण 5 नेताओं को ही राष्ट्रपति से मुलाकात करने की इजाजत दी गई है।

किसान नेता टिकैत अमित शाह से मिलेंगे
भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, हमारी आज शाम 7 बजे गृह मंत्री के साथ बैठक है। हम अभी सिंघू बॉर्डर जा रहे हैं और वहां से हम गृह मंत्री के पास जाएंगे। राकेश टिकैत ने कहा, एजेंडा वही रहेगा। सरकार से बात करेंगे। बातचीत से पहले अमित शाह का बुलाना अच्छा संकेत है। बातचीत से हल निकलेगा। सरकार को रास्ता निकालना चाहिए। हम तो बिना उम्मीद के नहीं जाते हैं। इसमें 14 से 15 लोग जाएंगे।

तीस हजारी कोर्ट में भी भारत बंद का समर्थन 
अखिल भारतीय वकीलों के संघ ने भारत बंद के समर्थन में तीस हजारी जिला कोर्ट में विरोध प्रदर्शन किया। वकीलों ने कहा, सरकार के विरोध का जवाब चिंता का विषय है। कानूनी बिरादरी किसानों के साथ खड़ी है। ये कानून न तो किसानों के पक्ष में हैं और न ही वकीलों के। 

कृषि मंत्री और सीएम खट्टर की मुलाकात हुई
एक तरफ भारत बंद है, दूसरी तरफ नरेंद्र सिंह तोमर के घर पर कृषि मंत्री और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर की मुलाकात हुई।

मोदी ने प्रकाश सिंह बादल को जन्मदिन की बधाई दी
भारत बंद के बीच अकाली दल नेता और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जन्मदिन की बधाई दी है। सूत्रों से जानकारी मिली है कि पीएम मोदी ने बधाई के लिए प्रकाश बादल को फोन किया।

टीकरी बॉर्डर पर मृत पाया गया 32 साल का किसान
सोनीपत के एक 32 साल के किसान को टीकरी बॉर्डर पर मृत पाया गया। वह कृषि कानूनों का विरोध कर रहा था और पिछले कुछ दिनों से टिकरी बॉर्डर पर डेरा डाले हुए था। वह खुले में सो रहा था और मंगलवार सुबह वह मृत पाया गया। पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। कहा जा रहा है कि ठंड के कारण किसान की मौत हुई होगी। मृतक की पहचान सोनीपत गुहाना निवासी अजय मूर के रूप में हुई है। उनके परिवार को सूचित कर दिया गया है।


राज्यों में भारत बंद का असर

दिल्ली 
भारत बंद के दौरान आम आदमी पार्टी (AAP) ने आरोप लगाया है कि केंद्र की पुलिस ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को घर में नजरबंद कर दिया है। दिल्ली मेट्रो के ग्रीन लाइन पर स्थित पंडित राम शर्मा स्टेशन के प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए हैं। किसानों ने एनच 24 के रास्ते दिल्ली से गाजियाबाद का रास्ता भी बंद कर दिया है। जॉइट सीपी ईस्ट अशोक कुमार गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे।

दिल्ली में सरोजनी नगर के बाजार में दुकानदारों ने किसानों के समर्थन में एकजुटता दिखाई और हाथ में काले रिबन बांधे। एक दुकानदार ने कहा, हम किसानों के समर्थन में ऐसा कर रहे हैं। सरकार एक साधारण मांग को पूरा क्यों नहीं कर सकती है। 


राजस्थान 
राजस्थान में दूध की सप्लाई, अस्पताल, मेडिकल स्टोर और एंबुलेंस जैसी जरूरी सेवाएं चालू हैं। 247 कृषि उपज मंडियां बंद हैं। मुहाना मंडी में हरी सब्जी का ब्लॉक बंद है। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के प्रदेश संयोजक और जयपुर ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर्स चेंबर के प्रदेशाध्यक्ष गोपाल सिंह राठौड़ ने बताया कि ट्रांसपोर्ट ऑपरेटर बंद में शामिल हैं। राजस्थान के सभी 7 लाख ट्रक ट्रेलर और सभी तरह के कमर्शियल वाहन नहीं चलेंगे। बंद में करीब 13 हजार ट्रांसपोर्ट कंपनियां शामिल होंगी। जयपुर में 1400 लो फ्लोर-मिनी बसें और 20 हजार ऑटो-रिक्शा नहीं चलेंगे।


हरियाणा 
चक्काजाम के दौरान राज्य के करीब 14.5 लाख से ज्यादा कमर्शियल वाहन नहीं चल पाएंगे। मंडियां भी बंद रहेंगी। किसानों ने फल, दूध और सब्जियों की सेवा रोकने का फैसला किया है। फिर भी किसान संगठनों ने अपील की है कि किसी को बंद में शामिल होने के लिए मजबूर न किया जाए। राज्य सरकार ने बंद को देखते हुए सुरक्षा बलों की 14 कंपनियां तैनात की हैं।


बिहार 
भारत बंद के समर्थक में बिहार में रेलवे ट्रैक, राजमार्ग और सड़कें बंद हो गईं हैं। पूरे राज्य में बड़ी संख्या में पुलिस तैनात की गई है ताकि आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं की आवाजाही प्रभावित न हो। राजद समर्थकों और पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पटना के विभिन्न हिस्सों में दुकानदारों को शटर बंद करने और सड़कों पर जाम के लिए मजबूर किया। पटना के अलग-अलग इलाकों में टायर जलाए गए। मुजफ्फरपुर में भी राजद के प्रदर्शन के दौरान एक एम्बुलेंस फंस गई, जिसे बाद में राजद कार्यकर्ताओं ने आगे जाने दिया. एम्बुलेंस चालक ने कहा कि वो अस्पताल जा रहे थे, लेकिन प्रदर्शन के कारण बीच में ही फंस गए। 


 

उत्तर प्रदेश

समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने किसानों के भारत बंद के समर्थन में प्रयागराज में रेल रोक दी। कार्यकर्ता रेल की पटरी पर उतरकर नारेबाजी कर रहे हैं।

प्रयागराज में ट्रेन रोकते हुए सपा कार्यकर्ता


पंजाब 
पंजाब में भारत बंद के समर्थन में अधिकांश दुकानें और कार्यालय बंद हैं। राज्य में पेट्रोलियम डीलरों ने देश भर में हड़ताल का आह्वान करने के लिए फिलिंग स्टेशनों को बंद कर दिया। पंजाब में 3,400 से अधिक ईंधन पंप हैं। मेन बाजार, दुकानें, शॉपिंग मॉल, पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। बैंक और सरकारी दफ्तर खुले रहेंगे। प्राइवेट बसें बंद रहेंगी। सरकारी बसें 11 से 3 बजे तक नहीं चलाई जाएंगी। पड़ोसी राज्य हरियाणा में विपक्षी दलों कांग्रेस और इंडियन नेशनल लोकदल ने 'भारत बंद' को समर्थन दिया।


 

गुजरात  
गुजरात, मध्य प्रदेश, यूपी में जबरदस्ती बंद कराने पर कार्रवाई होगी। गुजरात और नोएडा में धारा 144 लागू है। हरियाणा में खाप पंचायतें बंद कराएंगी। राजस्थान, छत्तीसगढ़, पंजाब और दक्षिण के कई राज्यों में भी बंद रहेगा। कानूनों को केरल सरकार सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देगी।


झारखंड
रांची में भारत बंद के दौरान कृषि कानूनों के खिलाफ नारे लगाते हुए। 


 

मेघालय
कृषि कानूनों के खिलाफ किसान संघों द्वारा बुलाए गए 'भारत बंद' के बीच मंगलवार को मेघालय में आम जनजीवन अप्रभावित रहा। राज्य में दुकानें और बाजार खुले हैं और सड़कों पर निजी और सार्वजनिक दोनों तरह के वाहन हमेशा की तरह चल रहे हैं। अधिकारियों ने कहा कि सरकारी कार्यालय, बैंक और डाकघर खुले हैं। 


कर्नाटक
कांग्रेस नेताओं ने किसान संघों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में विरोध प्रदर्शन किया। केंद्र के खिलाफ नारे लगाए और काले झंडे दिखाए। बेंगलुरु में विधन सौधा में गांधी प्रतिमा के सामने विरोध प्रदर्शन किया। पार्टी के नेता सिद्धारमैया, बीके हरिप्रसाद, रामलिंग रेड्डी और अन्य नेता उपस्थित थे। वहीं कालबुर्गी में वाम संगठनों ने सेंट्रल बस स्टेशन पर विरोध प्रदर्शन किया।


 

तेलंगाना
तेलंगाना में टीआरएस नेता के कविथा, के टी रामाराव किसान संघों द्वारा बुलाए गए भारत बंद के समर्थन में रंगा रेड्डी में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ विरोध किया।


 

केरल 
केरल में बड़े पैमाने पर बंद का असर दिखा। राज्य सरकार ने कृषि कानूनों को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देने का फैसला किया है।


पश्चिम बंगाल 
सीएम ममता बनर्जी ने सोमवार को किसानों के समर्थन में मिदनापुर में कहा, भाजपा सरकार को तुरंत कृषि विधेयकों को वापस लेना चाहिए या फिर केंद्र की सत्ता से हट जाना चाहिए। 


 

आंध्र प्रदेश
वामपंथी राजनीतिक दलों और स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (SFI) ने किसान संघों द्वारा बुलाए गए भारत बंद  के समर्थन में विशाखापत्तनम में NH 16 पर विरोध प्रदर्शन किया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios