नई दिल्ली. भाजपा ने नागरिकता कानून पर राय रखने को लेकर अमेरिका की टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला पर निशाना साधा है। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने सत्या नडेला को नसीहत देते हुए कहा, साक्षर के लिए शिक्षित होना भी जरूरी है। 

लेखी ने ट्वीट किया, नागरिकता कानून का उद्देश्य बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के पीड़ित अल्पसंख्यकों को बेहतक अवसर देना है। उन्होंने पूछा कि नडेला क्या अमेरिका में यजीदियों की जगह सीरिया के मुसलमानों को अवसर देने के बारे में सोच सकते हैं। 

क्या कहा था नडेला ने? 
सीईओ सत्या नडेला ने नागरिकता संशोधन कानून पर अपनी राय रखी है। उन्होंने कानून को लेकर देशभर में चल रहे विरोध प्रदर्शनों को बुरा और दुखद कहा। वेबसाइट बजफीड के एडिटर बेन स्मिथ ने सोमवार को ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। जो हो रहा है वह बुरा है।

'भारत में जो भी हो रहा है वह बुरा है'
स्मिथ ने बताया कि जब उन्होंने नडेला से सीएए पर सवाल पूछा तो उन्होंने कहा, “मुझे लगता है भारत में इस पर जो भी हो रहा है, वह बुरा है, मुझे खुशी होगी अगर कोई अप्रवासी बांग्लादेशी भारत में आकर यहां की अगली बड़ी कंपनी खोलता है या इंफोसिस जैसी कंपनी का अगला सीईओ बनता है।”

स्मिथ ने एक और ट्वीट में कहा- “नडेला ने अपनी राय मैनहैटन में माइक्रोसॉफ्ट के कार्यक्रम में एडिटर्स से बातचीत के दौरान रखी। नडेला अमेरिका में भारतीय मूल के दो बड़े टेक लीडर्स में से हैं। उनके अलावा भारत के ही सुंदर पिचई गूगल को हेड कर रहे हैं।”