Asianet News Hindi

इस पुलिस अधिकारी से नहीं देखा गया कैंसर पीड़ित का दर्द, मुंडवा लिया सिर

एक महिला की सुंदरता में उसके लंबे घने बाल चार चांद लगा देते हैं। लेकिन अगर कोई महिला अपने इन्हीं बालों को दूसरे की मदद के लिए मुंडवा ले तो वो समाज में एक मिसाल के रूप में सामने आती है। ऐसा ही एक मामला केरल के त्रिसूर का सामने आया है। त्रिसूर जिले की एक पुलिस अफसर अपर्णा लवकुमार ने कैंसर मरीजों को विग बनाने के लिए अपने बाल दान दे दिए हैं।

Cancer victim's pain not seen from this police officer, shaved head
Author
Trissur, First Published Sep 27, 2019, 2:15 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

त्रिसूर. एक महिला की सुंदरता में उसके लंबे घने बाल चार चांद लगा देते हैं। लेकिन अगर कोई महिला अपने इन्हीं बालों को दूसरे की मदद के लिए मुंडवा ले तो वो समाज में एक मिसाल के रूप में सामने आती है। ऐसा ही एक मामला केरल के त्रिसूर का सामने आया है। त्रिसूर जिले की एक पुलिस अफसर अपर्णा लवकुमार ने कैंसर मरीजों को विग बनाने के लिए अपने बाल दान दे दिए हैं। अपर्णा के इस काम की लोगों ने जमकर तारीफ की। इसके लेकर अपर्णा का कहना है कि मैंने बहुत ही छोटा काम किया है। मैं इतनी तारीफ की हकदार नहीं हूं। उन्होंनें कहा कि जो मैंने किया वो कोई बड़ी बात नहीं है, मेरे बाल एक दो साल में वापस आ जाएंगे। मेरे लिए वे लोग वास्तव में हीरो हैं, जो जरूरतमंदों को अपना अंग दान करते हैं। सूरत में क्या रखा है, आपका काम उससे ज्यादा मायने रखता है। 

पहले भी कर चुकी हैं लोगों की मदद
आपको बता दें कि अपर्णा पहले भी लोगों की मदद कर चुकी हैं। पुलिस अफसर ने 10 साल पहले भी एक जरूरतमंद परिवार की सहायता की थी। दरअसल, उस परिवार में एक बच्चे की मौत हो गई थी। जिसके बाद अस्पताल से बच्चे की डेड बॉडी को ले जाने के लिए परिजनों के पास पैसे नहीं थे। तब अपर्णा ने उनकी मदद करते हुए अपने तीन सोने के कंगन परिवार को दे दिए थे। ताकि वह लोग 60 हजार रुपए के बिल का भुगतान कर बच्चे की डेड बॉडी ले जा सके। इस घटना की जानकारी अस्पताल के कर्मचारियों ने मीडिया को दी थी। 

इस वजह से मुंडवाया अपना सिर
अपर्णा ने बताया कि वे अक्सर अपने थोड़े-थोड़े बाल दान करती रहती हैं, लेकिन इस बार उन्होंने तब अपना पूरा सिर उस समय मुंडवा लिया जब उनके सामने एक कैंसर से पीड़ित लड़का बिना बालों के आया। उन्होंने कहा कि मैं उस बच्चे के दर्द को महसूस कर पा रही थी। अपर्णा के साथ काम करने वाले अधिकारी उन्हें अपने रोल मॉडल के रूप में मानते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios