Asianet News Hindi

सुशांत की तरह कंगना विवाद पर भी बिहार में केस दर्ज, उद्धव ठाकरे और संजय राउत पर धमकी देने का आरोप

सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार में केस दर्ज होने के बाद अब रंगना रनौत का मामला भी बिहार पहुंच चुका है। एम राजू नैयर नाम के सामाजिक कार्यकर्ता ने मुजफ्परपुर के सीजेएम कोर्ट में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे और शिवसेना नेता संजय राउत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। दोनों पर कंगना रनौत को धमकी देने का आरोप लगाया गया है। 

Case filed in Bihar on dispute related to Kangana Ranaut after Sushant Singh case kpn
Author
New Delhi, First Published Sep 11, 2020, 5:45 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली/मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार में केस दर्ज होने के बाद अब रंगना रनौत विवाद भी बिहार पहुंच चुका है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एम राजू नैयर नाम के सामाजिक कार्यकर्ता ने मुजफ्फरपुर के सीजेएम कोर्ट में महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे और शिवसेना नेता संजय राउत के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। दोनों पर कंगना रनौत को धमकी देने का आरोप लगाया गया है। 

मुजफ्फरपुर से पहले मुंबई के विक्रोली थाने में कंगना रनौत के खिलाफ केस दर्ज कराया गया है। केस सीएम उद्धव ठाकरे के लिए कंगना रनौत द्वारा इस्तेमाल की गई भाषा को लेकर दर्ज है। 

कंगना ने उद्धव ठाकरे पर क्या कहा?  
दफ्तर तोड़े जाने के बाद कंगना रनौत ने उद्धव ठाकरे पर जवाबी हमला किया। उन्होंने कहा, तुम्हारे पिताजी के अच्छे कर्म तुम्हें दौलत तो दे सकते हैं मगर सम्मान खुद कमाना पड़ता है। मेरा मुंह बंद करोगे मगर मेरी आवाज, मेरे बाद सौ, फिर लाखों में गूंजेगी, कितने मुंह बंद करोगे? कितनी आवाजें दबाओगे? कब तक सच्चाई से भागोगे तुम कुछ नहीं हों सिर्फ वंशवाद का एक नमूना हो।

महाराष्ट्र सरकार और कंगना रनौत के बीच का विवाद बाला साहेब ठाकरे तक भी पहुंचा। कंगना ने उद्धव ठाकरे के बाद बाला साहेब ठाकरे पर भी निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट किया, महान बाला साहेब ठाकरे मेरे सबसे पसंदीदा आइकन में से एक हैं। उनका सबसे बड़ा डर था कि किसी दिन शिवसेना गुटबंधन करेगी और कांग्रेस बनेगी। मैं जानना चाहता हूं कि आज उनकी पार्टी की स्थिति को देखते हुए उनकी सजग भावना क्या है?

पीओके बयान के बाद तेज हुआ विवाद
सुशांत सिंह राजपूत केस से शुरू हुआ विवाद तब तेज हो गया, जब कंगना रनौत ने एक बयान में मुंबई और पीओके का जिक्र कर दिया। उन्होंने कहा, मुंबई की गलियों में आजादी के नारे लगने के बाद अब खुली धमकियां, मुंबई क्यों पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) की तरह लग रही है? कंगना के इस बयान से संजय राउत को मौका मिल गया और उन्होंने पूरे विवाद को इसी पर मोड़ दिया। 

कंगना ने शिवसेना को खुली चुनौती दी थी
कंगना ने संजय राउत पर पलटवार करते हुए कहा था, महाराष्ट्र किसी के बाप की नहीं है। महाराष्ट्र उसी का है जिसने मराठी गौरव को प्रतिष्ठित किया है। मैं मराठा हूं, मेरा जो उखाड़ना है उखाड़ लो। इसपर संजय राउत ने जवाब दिया, पढ़ी लिखी महिला हैं। उन्हें यह शोभा देता है। यह मेंटल केस है। जिस तरह से लोग बोल रहे हैं । झांसी की रानी का अपमान करते हैं। आपकी मानसिकता क्या है। धमकियां देना मेरा काम नहीं है। हवा तलवार चलाना। हवा में बंदूक चलाना हमारा काम नहीं है।

 

डायरेक्टर अभिषेक कपूर ने सुशांत सिंह को किया याद, वीडियो में समेटी केदारनाथ की शूटिंग से जुड़ी सारी यादें

"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios