Asianet News Hindi

प्याज की बढ़ती कीमतों पर केंद्र सरकार हुई सख्त, जमाखोरी रोकने के लिए लागू किये ये नियम

केंद्र सरकार ने शुक्रवार को देश में प्याज की बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने, और जमाखोरी रोकने के लिए कड़े कदम उठाए गए हैं। उपभोक्ता मामलों के विभाग की सचिव लीना नंदन ने जानकारी दी कि केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्यों को उनकी आवश्यकताओं के अनुसार प्याज की आपूर्ति कर दी है।

Central government tightens on onion prices, rules to implement hoarding
Author
New Delhi, First Published Oct 23, 2020, 6:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश में सितंबर के दूसरे सप्ताह से ही प्याज की कीमतें आसमान छू रहीं है। इसी को लेकर केंद्र सरकार ने शुक्रवार को कड़े कदम उठाए हैं। सरकार द्वारा यह कदम प्याज की बढ़ती कीमतों को नियंत्रित करने, और जमाखोरी रोकने के लिए सरकार ने कड़े कदम उठाए गए हैं। उपभोक्ता मामलों के विभाग की सचिव लीना नंदन ने जानकारी दी कि केंद्र सरकार ने विभिन्न राज्यों को उनकी आवश्यकताओं के अनुसार प्याज की आपूर्ति कर दी है। अब तक 35 हजार मीट्रिक टन प्याज राज्यों को कीमतों में निश्चित स्थिरता बनाए रखने के लिए दिया गया है।

दरअसल, पिछले कुछ समय से प्याज की कीमतों में लगातार तेजी आ रही है। इसी को लेकर केंद्र सरकार ने अब थोक विक्रेताओं के लिए प्याज की स्टॉक लिमिट को 25 मीट्रिक टन और खुदरा व्यापारियों के लिए 2 मीट्रिक टन निर्धारित किया है। इसके पीछे सरकार का तर्क है कि ऐसा करने से देश में प्याज की जमाखोरी नहीं की जा सकेगी। हालांकि आयातित प्याज पर यह लिमिट लागू नहीं होगी।

1 लाख मीट्रिक टन का बफर स्टॉक बनाया गया

लीना ने बताया कि सरकार ने बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाने के लिए पहली बार ऐसे जरूरी कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि यह पहली बार है जब हमने 1 लाख मीट्रिक टन प्याज का बफर स्टॉक बनाया है ताकि उस स्टॉक की कैलिब्रेटेड रिलीज से बढ़ती कीमतों का ध्यान रखा जा सके। एक राष्ट्र के रूप में, हम प्याज के बड़े उपभोक्ता हैं। प्याज के उत्पादन को बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार द्वार लगातार सक्रिय कदम उठाए गए हैं। लेकिन सितंबर के दूसरे सप्ताह से, अपेक्षाकृत स्थिर कीमतों में लगातार वृद्धि हुई है।

कईं महानगरों में बढ़े प्याज के दाम

देश के महानगरों में प्याज की सप्लाई में आई कमी के कारण इसकी कीमतों में तेजी देखने को मिल रही है। माना जा रहा है कि दुर्गा पूजा समाप्त होने के बाद कीमत में और तेजी आएगी। केरल में पिछले सप्ताह प्याज की कीमत 90 से 100 रुपये प्रति किलोग्राम तक पहुंच गई, जबकि कई जगह खुदरा दुकानों पर प्याज 120 रुपये प्रति किलोग्राम तक बिका।

बेंगलुरू में चार गुना महंगा हुआ प्याज

दक्षिण भारत के बड़े राज्य कर्नाटक का राजधानी बेंगलुरु में पिछले एक महीने में ही प्याज की कीमतें चार गुना तक बढ़ गई हैं। बेंगलुरु में प्याज फिलहाल 88 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गई है। बता दें कि 20 सितंबर को इसकी कीमत 22 रुपये प्रति किलो थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios