Asianet News HindiAsianet News Hindi

LAC पर भारत और चीन के सैनिकों के बीच 75 दिन में दूसरी झड़प, भारतीय जवानों ने दिया मुंहतोड़ जवाब

पूर्वी लद्दाख में LAC पर भारत और चीन सीमा के सैनिकों के बीच एक बार फिर झड़प हुई है। बताया जा रहा है कि चीनी सेना PLA के सैनिकों ने पहले बनी सहमति का उल्लंघन करते हुए पूर्वी लद्दाख में घुसपैठ की कोशिश की। भारतीय सेना ने पैंगोंग त्सो इलाके में चीनी सैनिकों को घुसने से रोका। 

china pla troops violated the previous consensus at Pangong Tso Lake ladakh KPP
Author
Ladakh, First Published Aug 31, 2020, 11:08 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लद्दाख. पूर्वी लद्दाख में LAC पर भारत और चीन सीमा के सैनिकों के बीच एक बार फिर झड़प हुई है। बताया जा रहा है कि चीनी सेना PLA के सैनिकों ने पहले बनी सहमति का उल्लंघन करते हुए पूर्वी लद्दाख में घुसपैठ की कोशिश की। भारतीय सेना ने पैंगोंग त्सो इलाके में चीनी सैनिकों को घुसने से रोका। 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, भारतीय सेना के पीआरओ कर्नल अमन आनंद ने बताया कि यह झड़प 29-30 अगस्त को हुई। चीनी सैनिकों ने पहले बनी सहमति का उल्लंघन करते हुए पूर्वी लद्दाख में घुसपैठ की कोशिश की। 

भारतीय सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की नाकाम
भारतीय सैनिकों ने पैंगोंग त्सो झील के दक्षिण किनारे पर चीनी सैनिकों की घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर दिया। चीन लगातार इस क्षेत्र की यथा स्थिति को बदलने की कोशिश में जुटा है। 

मीटिंग के जरिए सुलझाया जा रहा विवाद
कर्नल अमन आनंद ने बताया, भारतीय सेना बातचीत और शांति से यह मुद्दा सुलझाना चाहती है। लेकिन सेना समान रूप से अपनी क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए भी दृढ़ है। इस मामले को सुलझाने के लिए ब्रिगेड कमांडर लेवल की बातचीत चल रही है। 


15 जून को हुई थी हिंसक झड़प
भारत और चीन के बीच पिछले 3 महीनों से तनाव की स्थिति है। 15 जून को पूर्वी लद्दाख के गलवान में दोनों देशों की सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए थे। जबकि चीन के 40 सैनिक मारे गए थे। हालांकि, चीन ने यह तो माना है कि उसके सैनिक मारे गए, लेकिन यह नहीं बताया कि उसके कितने सैनिक मारे गए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios