Asianet News Hindi

सरकार ने TikTok समेत 59 ऐप किए बैन, डिजिटल स्ट्राइक से बौखलाए चीन ने कही ये बड़ी बात

चीन से पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद के बीच भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए TikTok, ShareIT और UC Browser जैसे 59 ऐप बैन कर दिए हैं। भारत द्वारा उठाए गए इस कदम से चीन को झटका लगा है। चीन के विदेश मंत्री वांग यी की ने कहा, चीन को भारत के इस कदम से दुख पहुंचा है। इस मामले में स्थिति की जानकारी ली जा रही है। 

china reaction on India banning Tiktok and 58 Chinese apps KPP
Author
New Delhi, First Published Jun 30, 2020, 1:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. चीन से पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद के बीच भारत सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए TikTok, ShareIT और UC Browser जैसे 59 ऐप बैन कर दिए हैं। भारत द्वारा उठाए गए इस कदम से चीन को झटका लगा है। चीन के विदेश मंत्री वांग यी की ने कहा, चीन को भारत के इस कदम से दुख पहुंचा है। इस मामले में स्थिति की जानकारी ली जा रही है। 

चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हमने हमेशा जोर दिया है कि अंतरराष्ट्रीय कारोबार में नियमों का ध्यान रखा जाए। भारत सरकार की जिम्मेदारी है कि चीन समेत अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के अधिकारों की रक्षा करे।

भारत ने इन 59 ऐप को किया बैन

<p><strong>सरकार ने कहा, यह कदम उठाना जरूरी था</strong><br />
सरकार ने इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के सेक्शन 69ए के तहत इन चीनी ऐप्स को बैन किया है। सरकार ने कहा है, ये ऐप्स जिन गतिविधियों में शामिल हैं, उनसे भारत की सुरक्षा, सम्प्रभुता और एकता को खतरा है। सरकार ने कहा, सूचना मंत्रालय को शिकायत मिली थीं कि कुछ मोबाइल ऐप्स का गलत इस्तेमाल कर भारत के लोगों का डाटा चुराकर भारत के बाहर मौजूद सर्वर पर भेज रहे थे। देश के लोगों की की प्राइवेसी और डेटा की सुरक्षा को लेकर चिंताएं जाहिर की गई थीं। सरकार ने कहा, यह बेहद चिंता का विषय है और इसमें तुरंत कदम उठाना जरूरी था।</p>


सरकार ने कहा- यह कदम उठाना जरूरी था
सरकार ने इन्फर्मेशन टेक्नोलॉजी एक्ट के सेक्शन 69ए के तहत इन चीनी ऐप्स को बैन किया है। सरकार ने कहा है, ये ऐप्स जिन गतिविधियों में शामिल हैं, उनसे भारत की सुरक्षा, सम्प्रभुता और एकता को खतरा है। सरकार ने कहा, सूचना मंत्रालय को शिकायत मिली थीं कि कुछ मोबाइल ऐप्स का गलत इस्तेमाल कर भारत के लोगों का डाटा चुराकर भारत के बाहर मौजूद सर्वर पर भेज रहे थे। देश के लोगों की की प्राइवेसी और डेटा की सुरक्षा को लेकर चिंताएं जाहिर की गई थीं। सरकार ने कहा, यह बेहद चिंता का विषय है और इसमें तुरंत कदम उठाना जरूरी था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios