नई दिल्ली. लॉकडाउन में विमान सेवा बंद रहने के बाद 25 मई से फिर से शुरू की जा रही है। इस बीच केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, वंदे भारत मिशन के तहत अभी तक 20 हजार भारतीयों को वापस लाया जा चुका है। हालांकि, कुछ देश लोगों को वापस लाने की इजाजत नहीं दे रहे हैं। ऐसे में परेशानी आ रही है। मंत्री बोले कि अभी लोगों को वापस लाने की रफ्तार बढ़ेगी।
 
- जब हमने 5मई को वंदे भारत मिशन की घोषणा की थी, तब हम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मिले। आज 21 मई को हम एक दूसरे से मिल रहे हैं। ये इस बात को दर्शाता है कि हमने स्थिति को फिर से सामान्य बनाने और फिर से शुरू करने का आत्मविश्वास हासिल कर लिया है।

90-120 मिनट की यात्रा के लिए न्यूनतम 3500 रु. किराया

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने कहा, हमने एक न्यूनतम और अधिकतम किराया निर्धारित किया है। दिल्ली, मुंबई के केस में 90-120 मिनट के बीच की यात्रा के लिए न्यूनतम किराया 3500 रु.होगा, अधिकतम किराया 10,000 रु. होगा। यह 24 अगस्त को आधी रात होने से एक मिनट पहले तक लगभग 3 महीनों के लिए संचालित रहेगा।

कैसे तय होगा विमान का किराया?

किराए को लेकर हरदीप पुरी ने कहा, रूट्स को 7 सेक्शन में बांटा गया है, उसी के आधार पर किराया लिया जाएगा। दिल्ली से मुंबई का किराया यात्रा के लिए न्यूनतम 3,500 और अधिकतम 10 हजार रुपए होगा, जो 90 मिनट से 120 मिनट की कैटिगरी में आती है। रूट्स को 7 सेक्शंस में बांटा गया है।

40 मिनट से कम समय लेने वाले रूट्स
40- 60 मिनट का समय लेने वाले रूट्स
60- 90 मिनट का समय लेने वाले रूट्स
90- 120 मिनट का समय लेने वाले रूट्स
2- 2.50 घंटे का समय लेने वाले रूट्स
2.50- 3 घंटे का समय लेने वाले रूट्स
3- 3.5 घंटे का समय लेने वाले रूट्स

- उन्होंने कहा, आज जारी किया गया आदेश 24 अगस्त 23:59 बजे तक लागू रहेगा। एक यात्री को सुरक्षा उपकरण, फेस मास्क और सैनिटाइजर बोतल साथ रखनी होगी। एयरलाइंस खाना नहीं देगी। पानी की बोतलें गैलरी एरिया या सीटों पर दी जाएंगी। एक सेल्फ डिक्लेरेशन या आरोग्य सेतु ऐप की मदद से यात्रियों के कोरोना लक्षणों से मुक्त होने का पता लगाया जाएगा। आरोग्य सेतु ऐप पर लाल स्टेट्स वाले यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

AAI has issued SOP Domestic  flight operations will resume from May 25 kps

क्या विमान के बीच सीट खाली रहेगी?

विमान में बीच की सीट खाली रखने को लेकर केंद्रीय मंत्री ने कहा, अभी बीच की सीट खाली रखने को ऐसा कोई नियम नहीं है, लेकिन विमान में हर तरह के अन्य नियमों का पालन किया जाएगा। सभी कंपनियों को करीब 40% सीटें अधिकतम-न्यूनतम दाम के बीच के दाम पर देनी होंगी। यह सिस्टम अगस्त तक जारी रहेगा।