हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बताया है कि कोरोना पाॅजिटिव मरीजों की संख्या हरियाणा और आसपास के राज्यों में काफी बढ़ गया है। ऑक्सीजन की सप्लाई में किसी प्रकार की दिक्कत न आए इसके लिए हमने व्यवस्था कर दी है। हरियाणा के अतिरिक्त दिल्ली व पंजाब को भी हमने ऑक्सीजन जितना अलाॅट है उतना भेजवाना शुरू कर दिए हैं। ऑक्सीजन की कमी कहीं भी नहीं होने देंगे। 
खट्टर ने बताया कि ऑक्सीजन सप्लाई में जो कठिनाईयां थी, उसे ठीक कर लिया गया है। सप्लायर्स को आदेश दे दिया गया है कि जिस राज्य को जितना अलाॅटमेंट है उतना ऑक्सीजन समय से पहुंचा दिया जाए। 

ऑक्सीजन को 160 एमटी की जरूरत
मुख्यमंत्री खट्टर ने बताया कि हरियाणा में 160 मिट्रिक टन ऑक्सीजन अलाॅट हुआ है। इसमें 80 मिट्रिक टन पानीपत से सप्लाई होगी। रुड़की से 25 मिट्रिक टन सप्लाई होनी है तो भिवाड़ी से 20 एमटी। राज्य के अन्य हिस्सों से 37 एमटी ऑक्सीजन लिया जा रहा है। यह कुल 162 एमटी है।

दिल्ली को 12 स्टेशनों से 480 मिट्रिक टन दिया जा रहा
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बताया कि दिल्ली प्रदेश को 12 स्टेशनों से 480 मिट्रिक टन ऑक्सीजन सप्लाई किया जा रहा है। पानीपत से दिल्ली को 140 एमटी, 80 एमटी हरियाणा और 20 एमटी पंजाब को भेजा जाएगा। 

24 घंटे में हरियाणा ने दिल्ली को दिया 226 एमटी ऑक्सीजन
सीएम खट्टर ने कहा कि दिल्ली को पिछले 24 घंटे में 226 एमटी ऑक्सीजन दी गई है। जबकि पंजाब को 13 एमटी और हरियाणा को 87 एमटी ऑक्सीजन सप्लाई हुआ है। उन्होंने कहा कि सभी केंद्रों को यह आदेश दिया गया है कि सभी केंद्रों को जितना अलाॅट है उतना एलोकेशन करते रहे। हरियाणा के अतिरिक्त दिल्ली व पंजाब को भी हमने ऑक्सीजन जितना अलाॅट है उतना भेजवाना शुरू कर दिए हैं। ऑक्सीजन की कमी कहीं भी नहीं होने देंगे। 

पानीपत और हिसार में दो अस्पताल
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बताया कि पानीपत और हिसार में जहां हमारे ऑक्सीजन सप्लाई केंद्र हैं वहां पांच-पांच सौ बेड के अस्पताल बनाए जा रहे हैं। कोरोना से लड़ाई लड़ने में हम सक्षम हैं। विश्वास बनाए रखे। उन्होंने कहा कि मास्क, सैनिटाइजर, वेंटीलेटर आदि की भी व्यवस्था की जा रही है।