Asianet News HindiAsianet News Hindi

पटरी पर लौटती जिंदगी, 63वें दिन बाजार में दिखी रौनक; ऐसा रहा घाटी का माहौल

 श्रीनगर के साप्ताहिक बाजार में जुटी भीड़,लोगों ने इक्टठा किए जरूरत के सामान। धीरे-धीरे सामान्य हो रही है लोगों की जिंदगी।
 

conditions get normal in j&k
Author
Srinagar, First Published Oct 6, 2019, 3:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में रविवार को लगने वाले साप्ताहिक बाजार में सामान खरीदने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। अधिकारियों ने बताया कि पूरे कश्मीर में मुख्य बाजार बंद रहे। सार्वजनिक परिवहन भी सड़कों पर नहीं दिखे। इसके चलते घाटी में लगातार 63वें दिन जनजीवन प्रभावित रहा। साप्ताहिक बाजार को यहां रविवार बाजार कहा जाता है।

लोंगो ने की गरम कपड़ों की खरीदारी

सर्दी के मौसम का आगमन देखते हुए, लोग कपड़े एवं अन्य जरूरी सामान खरीदने के लिए आए थे जिससे बाजार में भारी भीड़ थी। कश्मीर में दूसरे बाजार और अन्य व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद रहे, हालांकि शहर में सुबह 11 बजे तक कुछ दुकानें खुली रहीं लेकिन इसके बाद दुकानों का शटर गिरा दिया। सार्वजनिक परिवहन के अन्य साधन भी सड़कों पर नहीं दिखे।

घाटी में मोबाइल और इंटरनेट सेवाओं पर अब भी है पाबंदी

उत्तर में हंदवाड़ा और कुपवाड़ा क्षेत्रों को छोड़कर कश्मीर में मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं हर स्तर पर बंद हैं। घाटी में कहीं कोई रोक नहीं है।  हालांकि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए संवेदनशील जगहों पर काफी तादाद में सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है। प्रमुख अलगाववादी नेताओं को हिरासत में रखा गया साथ ही पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत मुख्यधारा के नेताओं को या तो हिरासत में रखा गया है।

(यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है।)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios