Asianet News HindiAsianet News Hindi

'भारत जोड़ो यात्रा' की लॉन्चिंग के दिन भड़के भूपेश बघेल, असम के CM पर ताना-'नए मुल्ला ज्यादा प्याज खाते हैं'

कांग्रेस की महत्वाकांक्षी भारत जोड़ो यात्रा(Bharat Jodo Yatra) कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक होगी। यात्रा के दौरान यह पैदल यात्रा 12 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेगी। कांग्रेस इसे ऐतिहासिक यात्रा बता रही है। यह करीब 3570 किमी की दूरी तय करेगी। जानिए क्यों भड़के भूपेश बघेल...

Congres to launch Bharat Jodo Yatra Wednesday, march will cover 12 states and two Union Territories  kpa
Author
First Published Sep 7, 2022, 6:22 AM IST

कन्याकुमारी. कांग्रेस की महत्वाकांक्षी भारत जोड़ो यात्रा(Bharat Jodo Yatra) आज(7 सितंबर) से शुरू हुई। इसे राहुल गांधी ने रवाना किया। यह कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक होगी। यात्रा के दौरान यह पैदल यात्रा 12 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों से होकर गुजरेगी। कांग्रेस इसे ऐतिहासिक यात्रा बता रही है। यह करीब 3570 किमी की दूरी तय करेगी। कांग्रेस ने 3,570 किलोमीटर लंबी भारत जोड़ो यात्रा शुरू करने से एक दिन पहले मंगलवार को कहा कि यह भारतीय राजनीति के लिए 'परिवर्तनकारी क्षण' है। यह कांग्रेस के लिए 'निर्णायक क्षण' भी है।

सोनिया गांधी की मां का हाल ही में इटली में निधन हुआ है, इसलिए वे और पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा दोनों विदेश में हैं। इस रैली की वास्तविक शुरुआत 8 सितंबर को सुबह 7 बजे होगी, जब राहुल गांधी और अन्य कांग्रेस नेता भी मार्च से जुड़ेंगे। यह मार्च दो बैचों में सुबह 7 बजे से 10:30 बजे तक और दोपहर 3:30 बजे से शाम 6:30 बजे तक चलेगा। जबकि सुबह के सत्र में कम भाग शामिल होंगे। इस मौके पर कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने कहा कि राजीव गांधी शहीद स्थल काफी महत्वपूर्ण है। राहुल गांधी देश को एकजुट करने निकले हैं। वे देश को जोड़ रहे हैं। शिवकुमार ने इससे एक बहुत बड़े बदलाव की उम्मीद जताई। उन्होंने कहा कि वे देश और युवाओं को एक करना चाहते हैं। कई दिल टूटे हैं और हम उन सभी को एक साथ जोड़ेंगे। यह कांग्रेस का नहीं, देश का कार्यक्रम है। 

जानिए क्यों भड़के भूपेश बघेल...

भारत जोड़ो यात्रा पर असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा के बयान से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भड़क उठे हैं। सरमा ने व्यंग्य किया था कि कांग्रेस को अपना यह अभियान पाकिस्तान से शुरू करना चाहिए। इस पर बघेल ने गुस्सा जाहिर करते हुए कहा कि वह जहर उगल रहे हैं। सरमा ने आरएसएस कार्यालय का दौरा किया होगा। वहां 'अखंड भारत का नक्शा' भी देखा होगा। बघेल ने कहा कि बीजेपी का कहना है कि मुसलमानों को पाकिस्तान भेजा जाए। उसे 'अखंड भारत' में विलय कर दिया जाए। बघेल ने तल्ख लहजे में सवाल किया कि मुसलमानों को पाकिस्तान भेजने और पाकिस्तान को मर्ज करने का क्या मतलब है? बघेल ने सरमा पर तंज मारा-नए-नए मुल्ला हैं। पहले कांग्रेस में थे अब BJP में गए हैं, तो नए मुल्ला ज्यादा प्याज खाते हैं। BJP कहती है कि सारे मुसलमान को पाकिस्तान भेज दो और पाकिस्तान को अखंड भारत में मिला लो तो भेजने का क्या मतलब है?

दरअसल, सरमा ने कहा था-भारत का बंटवारा 1947 में हो गया था। अगर भारत जोड़ो यात्रा करनी है, तो राहुल गांधी को यह यात्रा पाकिस्तान में करनी चाहिए, भारत में यात्रा करने से क्या होगा? भारत तो जुड़ा हुआ है।

Congres to launch Bharat Jodo Yatra Wednesday, march will cover 12 states and two Union Territories  kpa

भारत जोड़ो यात्रा के बताया परिवर्तनकारी और निर्णयकारी क्षण
'भारत जोड़ो' यात्रा लॉन्च से पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को श्रीपेरंबदूर में राजीव गांधी स्मारक पर प्रार्थना सभा में हिस्सा लिया। इसके बाद वह कन्याकुमारी में एक कार्यक्रम में शामिल हुए। यहां तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के भूपेश बघेल मौजूद रहे। कांग्रेस सेवा दल के कार्यकर्ता इस यात्रा का मैनेजमेंट कर रहे हैं।

राहुल गांधी मंगलवार रात चेन्नई पहुंचे थे
कांग्रेस महासचिव प्रभारी संचार जयराम रमेश ने भारत जोड़ो यात्रा को भारतीय राजनीति के लिए एक परिवर्तनकारी क्षण बताया। उन्होंने इसे पार्टी के कायाकल्प के लिए एक निर्णायक क्षण भी कहा। रमेश ने कहा कि पूरे भारत में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में काफी उत्साह है। उन राज्यों में भी कांग्रेस कार्यकर्ता उत्साहित हैं, जहां यह यात्रा नहीं हो रही है। प्रत्येक राज्य में कांग्रेस छोटे पैमाने पर समान यात्राएं करेगी भारत को एकजुट करने के मुख्य उद्देश्य को लेकर यह यात्रा 50 किमी या 100 किमी हो सकती है।

Congres to launch Bharat Jodo Yatra Wednesday, march will cover 12 states and two Union Territories  kpa

एक वीडियो संदेश में प्रियंका गांधी वाड्रा ने लोगों से जहां संभव हो इस यात्रा में शामिल होने का आग्रह किया है। उन्होंने जोर देकर कहा कि यात्रा की जरूरत थी, क्योंकि देश में नकारात्मक राजनीति की जा रही थी और वास्तविक मुद्दों पर चर्चा नहीं हो रही थी। उन्होंने कहा कि इसका उद्देश्य महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर लोगों का ध्यान केंद्रित करना है।

यह भी पढ़ें
भारत जोड़ो यात्रा: कांग्रेस ने लॉन्च किया लोगो और कैम्पेन, राहुल गांधी बता चुके हैं इसे अपनी तपस्या
भारत जोड़ो यात्रा के पहले फिर सुर्खियों में आए राहुल गांधी, फ्लाइट में महिला का सामान रखते फोटो क्यों है वायरल

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios