Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना के मरीजों ने फांसी लगाई तो हॉस्पिटल ने लागू किया ड्रेस कोड, महिला दुपट्टा लेकर नहीं जा सकेंगी

बेंगलुरु के केसी जनरल  हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित दो महिला मरीजों ने फांसी लगा ली, जिसके बाद से हॉस्पिटल में दुपट्टे पर बैन लगा दिया गया है। फांसी लगाने की घटना के बाद यहां महिला मरीजों के लिए ड्रेस कोड बदलने का फैसला लिया गया है। नए ड्रेस कोड के तहत महिला मरीजों को ऑपरेशन थिएटर वाली ड्रेस पहनना होगा।

Corona patients succumbed at Casey General Hospital in Bangalore kpn
Author
New Delhi, First Published Jul 23, 2020, 7:23 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. बेंगलुरु के केसी जनरल  हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित दो महिला मरीजों ने फांसी लगा ली, जिसके बाद से हॉस्पिटल में दुपट्टे पर बैन लगा दिया गया है। फांसी लगाने की घटना के बाद यहां महिला मरीजों के लिए ड्रेस कोड बदलने का फैसला लिया गया है। नए ड्रेस कोड के तहत महिला मरीजों को ऑपरेशन थिएटर वाली ड्रेस पहनना होगा। 

बाथरूम में जाकर लगाई थी फांसी
केसी जनरल हॉस्पिटल में 26 जून और 17 जुलाई को कोरोना संक्रमित दो महिला मरीजों ने बाथरूम में जाकर फांसी लगा ली थी। दोनों की उम्र करीब 60 साल के आसपास थी। 

हर मरीज को दूसरे मरीज पर रखना होगा नजर
ड्रेस कोड के अलावा हॉस्पिटल के मरीजों को भी काम दिया गया है। मरीजों को कहा गया है कि वह अपने आस-पास के मरीजों पर नजर रखे। अगर वह बाथरूम जा रहे हैं तो दूसरा मरीज भी साथ ही जाए। 

डिप्रेस्ड मरीजों पर खास नजर
हॉस्पिटल के सुपरिटेंडेंट वेंकटेशैया ने कहा, हॉस्पिटल में भर्ती डिप्रेस्ड मरीजों पर खास नजर रखी जा रही है। मरीजों से कहा गया है कि कोई डिप्रेस्ड मरीज बाथरूम जाए तो साथ में दूसरा मरीज या कोई और जाए। 

मरीजों को मोटिवेट करने के लिए लगाए टीवी
हॉस्पिटल में मरीजों को मोटिवेट करने के लिए टीवी लगाए गए हैं, जिससे की उनका मन बहला रहे। टीवी में मेडिटेशन और योगा जैसे प्रोग्राम भी दिखाए जाते हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios