नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले 14 लाख के पार पहुंच गए हैं। इससे भी बुरी खबर ये है कि भारत में अब हर दो दिन में करीब 1 लाख मामले सामने आ रहे हैं। शुरुआती दौर में भारत में पहले 1 लाख मामले 110 दिन में मिले थे। लेकिन बाकी के 13 लाख मामले सिर्फ 68 दिन में सामने आए हैं। 

भारत में कोरोना वायरस का पहला मरीज 30 जनवरी को सामने आया था। 18 मई को भारत में 1 लाख मामले सामने आए थे। इसके बाद भारत में तेजी से कोरोना बढ़ा। जहां पहले 110 दिन में 1 लाख मामले सामने आए थे। अब यह घटकर 2 दिन पर आ गया है।

भारत में कैसे बढ़े मामले
 

केस   कितने दिन लगे
1 लाख 110
2 लाख     15
3 लाख 10
4 लाख 08
5 लाख 06
6 लाख 05
7 लाख 05
8 लाख   04
9 लाख 03 
10 लाख 03
11 लाख 03
12 लाख 03
13 लाख 02
14 लाख 02

ये है राहत की खबर
भारत में बढ़ते हुए कोरोना केस के साथ राहत की खबर भी है। यहां ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। देश में अब रिकवरी रेट 64.19% हो गया है। यानी हर 100 मरीजों में 64 ठीक हो रहे हैं। वहीं, कोरोना से डेथ रेट की बात करें तो यह दुनिया में सबसे कम है। यहां हर 100 मरीज में 2 की मौत हो रही है। 
 
हर 10 लाख लोगों में हो रही 11,798 की जांच
देश में कोरोना की जांच संख्या भी लगातार बढ़ रही है। भारत में हर रोज 3 लाख से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं। 10 लाख की आबादी पर 11798 लोगों की जांच हो रही है। जांच के मामले में भारत 99 नंबर पर है। 

भारत में ये राज्य हैं सबसे संक्रमित
 
महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में अब तक 3.66 लाख केस सामने आ चुके हैं। राज्य में 2.07 लाख मरीज ठीक हो चुके हैं। 1.45 लाख का अभी भी इलाज चल रहा है। वहीं, 13389 लोगों की मौत हो चुकी है। 

तमिलनाडु: राज्य में कोरोना के 2.13 लाख केस सामने आए हैं। यहां, 1.56 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। 53703 मरीजों का इलाज चल रहा है। राज्य में अब तक 3494 मरीजों की मौत हुई है। 

दिल्ली: दिल्ली में कोरोना के 1.30 लाख मामले सामने आ चुके हैं। हालांकि, इनमें से 1.14 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। अभी 11 हजार मरीजों का इलाज चल रहा है। राज्य में 3827 लोगों की मौत हुई है। 

आंध्र प्रदेश: आंध्र में अब तक 96298 केस सामने आए हैं। वहीं, 48956 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकि 33 हजार लोगों का इलाज चल रहा है। अब तक 1041 लोगों की मौत हो चुकी है।

कर्नाटक: राज्य में अभी तक 90942 मामले सामने आए हैं। वहीं, 33 हजार लोग ठीक हो चुके हैं। 55 हजार मरीजों का इलाज चल रहा है। अब तक 1798 लोग इस महामारी से अपनी जान गंवा चुके हैं।