Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना का असर: पीएम मोदी का विदेश दौरा रद्द, दिल्ली में सभी प्राइमरी स्कूल 31 मार्च तक बंद

दुनिया के 70 देशों में आतंक मचा रहे कोरोना वायरस ने भारत में भी कहर बरपाना शुरू कर दिया है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 29 हो गई है। इनमें से 26 मामले पिछले दो दिन में सामने आए हैं। जबकि दुनिया भर में अब तक 3 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। 

Corona virus's increasing impact in india live news & updates kps
Author
New Delhi, First Published Mar 5, 2020, 8:17 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. दुनिया के 80 देशों में कोरोना वायरस का कहर जारी है। अब तक सुरक्षित रहे भारत पर भी इसका असर दिखने लगा है। कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 30 हो गई है। वहीं, एहतियातन दिल्ली में सभी प्राइमरी स्कूलों को 31 मार्च तक बंद कर दिया है। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बेल्जियम के ब्रसेल्स का दौरा रद्द कर दिया। पीएम मोदी को वहां यूरोपियन यूनियन और भारत के बीच होने वाले शिखर सम्मेलन में शामिल होना था।

भारत में कोरोना के सभी मामले पिछले 3 दिन में सामने आए हैं। सोमवार को 2 तो मंगलवार को 8 लोग संक्रमित पाए गए थे। बुधवार को इटली से लौटे 15 और 1 अन्य की संक्रमण की पुष्टि की गई। इसको लेकर राज्यसभा में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि विदेश से आए लोग ही कोरोना वायरस से संक्रमित है। उन्होंने कहा कि 21 एयरपोर्ट पर यात्रियों की जांच की जा रही है। इसके साथ ही उन्होंने राज्यसभा में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी स्थितियों पर लगातार नजर रख रहे हैं।  

4 वैज्ञानिक भेजे जाएंगे तेहरान

संक्रमण के बढ़ते खतरे के मद्देनजर सरकार 19 नई लैबोरेटरी शुरू करने जा रही है। ईरान में फंसे जो भारतीय देश लौटना चाहते हैं, उनकी जांच के बाद सरकार वहीं लैब बनाएगी। इसके लिए चार वैज्ञानिक तेहरान भेजे जा रहे हैं। सरकार ने अब सभी देशों से आने वाली उड़ानों और उनमें सवार यात्रियों की एयरपोर्ट पर ही स्क्रीनिंग करने का फैसला किया है। 

विदेश में 17 भारतीय कोरोना से पीड़ित

बुधवार को संसद में एक सवाल के जवाब में विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने बताया कि कोरोना वायरस से 16 लोग जापान की क्रूज शिप में पीड़ित हैं। वहीं, एक अन्य संक्रमित भारतीय दुबई में है। सरकार अभी तक 723 भारतीयों को चीन से ला चुकी है। इसी तरह जापान के क्रूज जहाजों से 119 भारतीयों को स्वदेश वापस लाया जा चुका है।

बनाएंगे 19 नए लैब, 5.89 लाख यात्रियों की हुई स्क्रीनिंग

केंद्रीय स्वास्थ मंत्री हर्षवर्धन सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि देश में अभी 15 लैब में कोरोना वायरस का टेस्ट किया जा रहा। जबकि सरकार अब 19 नई लैब शुरू करने जा रही हैं। देश में अभी संक्रमण की जो स्थिति है, उसके मुकाबले पर्याप्त संख्या में लैब हैं। अगर संक्रमण का खतरा बढ़ता है तो लैब बनाई जाएंगी। अब तक एयरपोर्ट्स पर 5.89 लाख यात्रियों की स्क्रीनिंग हो चुकी है। 15 हजार लोगों की बंदरगाहों पर स्क्रीनिंग हुई है। भारत-नेपाल सीमा पर 10 लाख लोगों की जांच की गई है। 27 हजार लोगों की कम्युनिटी स्क्रीनिंग पर रखा गया है। 

अब तक कोरोना के ये मामले आए सामने 

- सोमवार को दिल्ली में कोरोना वायरस से संक्रमित 1 मरीज पाया गया जो इटली से भारत लौटा था।
- सोमवार को ही तेलंगाना में दूसरा मरीज भी सामने आया जो दुबई से लौटा था। इस मरीज के संपर्क में आए लोगों को भी स्वास्थय विभाग द्वारा 14 दिन की निगरानी में रखा गया है। 
- आगरा में इटली से लौटा संक्रमित व्यक्ति अपने 6 रिश्तेदारों से मिला। जिसके बाद उसके 6 रिश्तेदार भी कोरोना के चपेटे में आ गए। 
- राजस्थान के जयपुर में 17 मरीज संक्रमित पाए गए हैं। जिसकी पुष्टि मंगलवार को की गई। बताया जा रहा कि इनमें से 16 मरीज इटली से आए थे और राजस्थान के 6 जिलों में 8 दिन तक घूमे थे। एक भारतीय ड्राइवर इनके साथ था, जो इन्हें अलग-अलग जगहों पर लेकर गया था। इस तरह कुल 17 लोग कोरोना से संक्रमित हुआ हैं। 
- एक महीने पहले यानी 3 फरवरी को केरल में कोरोना के चपेटे में 3 मरीज आए थे। जो उपचार के बाद ठीक हो गए थे। ये तीनों मरीज चीन की यात्रा कर वापस भारत लौटे थे। जिसके बाद सभी कोरोना के चपेटे में आ गए थे। 

कोरोना से दुनिया भी त्रस्त 

चीन के वुहान शहर पांव पसारे कोरोना वायरस ने दुनियाभर के 70 देशों में अपना पांव पसार लिया है। जिसके चपेटे में 90 हजार से ज्यादा मरीज आ चुके हैं। वहीं, महामारी की तरह फैल रहे इस वायरस ने 3 हजार से अधिक लोगों को मौत के मुंह में धकेल दिया है। 

क्या है कोरोना के लक्षण?

बुख़ार, खांसी, सांस लेने में दिक्कत, ये सभी या इनमें से कोई लक्षण हो सकता है। गंभीर मामलों निमोनिया और सांस लेने में बहुत ज्यादा मुश्किल हो सकती है। कुछ दुर्लभ मामलों में इसका संक्रमण जानलेवा भी हो सकता है।इसके लक्षण सामान्य सर्दी ज़ुकाम जैसे होते हैं। इसीलिए टेस्ट करना ज़रूरी होता है ताकि पुष्टि हो सके कि संक्रमण कोरोना वायरस यानी कोविड-19 का ही है।

क्या है कोरोना वायरस?

कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है। इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था। डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई वैक्सीन नहीं बना है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios