Asianet News HindiAsianet News Hindi

आर्टिकल 370 हटने का एक साल: श्रीनगर में 4-5 अगस्त को कर्फ्यू, अलगाववादी हिंसा की रच रहे साजिश

5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाला आर्टिकल 370 निष्प्रावी किया गया था। बुधवार को आर्टिकल 370 हटने का एक साल पूरा हो रहा है। ऐसे में श्रीनगर प्रशासन ने एहतियातन तौर पर 4 और 5 अगस्त को श्रीनगर में कर्फ्यू लगाया है।

Curfew announced in Srinagar for two days on article first anniversary of article 370 abrogation KPP
Author
New Delhi, First Published Aug 4, 2020, 7:46 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

श्रीनगर.  5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाला आर्टिकल 370 निष्प्रावी किया गया था। बुधवार को आर्टिकल 370 हटने का एक साल पूरा हो रहा है। ऐसे में श्रीनगर प्रशासन ने एहतियातन तौर पर 4 और 5 अगस्त को श्रीनगर में कर्फ्यू लगाया है। प्रशासन को डर है कि कुछ अलगाववादी संगठन विरोध प्रदर्शन और हिंसा को अंजाम दे सकते हैं।

श्रीनगर डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने अपने आदेश में कहा, कई इनपुट्स मिले हैं, जिनमें कहा जा रहा है कि कुछ अलगाववादी और पाकिस्तान समर्थित संगठन 5 अगस्त को ब्लैक डे मनाने की साजिश रच रहे हैं। इस दौरान विरोध प्रदर्शनों की आशंकाओं से इनकार नहीं किया जा सकता है। इतना ही नहीं जीवन और सार्वजनिक संपत्ति को खतरे में डालने वाले हिंसक विरोध प्रदर्शन की भी साजिश रची जा रही है। 

एहतियातन लगाया गया कर्फ्यू
धारा 144 के तहत श्रीनगर में कर्फ्यू के तहत जन आंदोलनों पर पूर्णता प्रतिबंध है। इसके अलावा कोरोना के रोकथाम के लिए लगाए गए प्रतिबंधों के मद्देनजर, सामूहिक सभा भी रोकथाम से संबंधित प्रयासों के लिए हानिकारक होगी। 

मेडिकल सेवाओं को मिलेगी छूट
जिला प्रशासन ने अपने ऑर्डर में कहा है कि 5 अगस्त तक मेडिकल इमरजेंसी सेवाओं को प्रतिबंधों से छूट रहेगी। इतना ही नहीं कश्मीर घाटी में भी सोमवार से कई तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं। हालांकि, प्रशासन का कहना है कि ये कोरोना के बढ़ते हुए मामलों को देखते हुए लगाए गए हैं।

5 अगस्त को हटा था आर्टिकल 370
केंद्र की मोदी सरकार 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को निष्प्रावी करने के लिए प्रस्ताव लाई थी। यह दोनों सदनों से पास हो गया था। इसके अलावा जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित राज्यों जम्मू कश्मीर और लद्दाख में भी बांट दिया गया। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios