नई दिल्ली. भारत में कड़ी पाबंदियों के बावजूद अब तक संक्रमण की स्पीड पर ब्रेक नहीं लग पाया है। पिछले 24 घंटे में भारत में अब तक के रिकॉर्ड 3.15 लाख केस मिले हैं। यही नहीं, 2000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। एक दिन में मिले केसों के मामले में भारत ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया है। अमेरिका में 8 जनवरी को 3,07,581 केस सामने आए थे। भारत में इस समय 22 लाख से अधिक एक्टिव केस हैं। जबकि अब तक 1,59,24,806 लोग संक्रमित हो चुके हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के अनुसार भारत में 21 अप्रैल तक कोरोना वायरस के लिए कुल 27,27,05,103 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 16,51,711 सैंपल कल टेस्ट किए गए। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसार, कोरोना वायरस से होने वाली 81.08% नई मौतें 10 राज्यों- महाराष्ट्र, दिल्ली, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, पंजाब, राजस्थान, झारखंड में हुई हैं।

इन राज्यों के हालात खराब

राज्य  केस
महाराष्ट्र 67,468
उत्तर प्रदेश 33,106
दिल्ली  24,638
कर्नाटक 23,558
केरल  22,414
राजस्थान  14,622
छत्तीसगढ़ 14,519
गुजरात  12,553
मध्य प्रदेश  13,107
बिहार  12,222
तमिलनाडु 11,681
पश्चिम बंगाल  10,784
आंध प्रदेश 9,716
हरियाणा 9,623
तेलंगाना 6,542

 (पिछले 24 घंटे में मिले केस)

यह भी जानें
दुनिया में अब तक 15.6M केस सामने आ चुके हैं। इनमें से 13.3M रिकवर हो चुके हैं, जबकि 183K की मौत हो चुकी है। भारत में अब तक 15,924,806 केस सामने आ चुके हैं। इनमें से अब तक 184,672 की मौत हो चुकी है।


दुनिया के टॉप 11 देशों में केस और अब तक मौतें

अमेरिका    32,602,051     583,330
भारत    15,924,806  184,672
ब्राजील     14,122,795  381,687
फ्रांस  5,374,288   101,881
रूस 4,727,125 106,706
तुर्की 4,446,591 36,975
यूके 4,395,703 127,327
इटली 3,904,899 117,997 
स्पेन  3,446,072 77,364
जर्मनी 3,208,672 81,382
अर्जेंटीना    2,769,552   60,083

मई के मध्य तक पीक पर रहेगी कोरोना की सेकंड लहर
मोदी सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार(CEA) केवी सुब्रमण्यम ने लोगों को आगाह किया है कि कोरोना की दूसरी लहर मई के मध्य तक अपने पीक पर बनी रह सकती है। केवी सुब्रमण्यम ने महामारी के संबंध में प्रकाशित तमाम रिसर्च का हवाला देकर कहा कि वे आईआईटी कानपुर और तमाम मैथमेटिकल मॉडल्स के आधार पर वे यह बात कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि इंडियन मेडिकल रिसर्च (ICMR) के रिसर्च से पता चलता है कि कोरोना का मई के मध्य तक पीक लेवल रहेगा। सुब्रमण्यम मंगलवार को ग्रेट लेक्स इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट द्वारा आयोजित एक वर्चुअल ईवेंट में बोल रहे थे।

ये भी पढ़ें...

बिना ऑक्सीजन टूट जाती सांस, स्ट्रेचर पर मरीज...परिजनों के हाथ में 'जिंदगी', हिला देगा ये वीडियो

कूकर से सीटी निकाल बनाएं भाप लेने का सबसे बढ़िया तरीका, कोरोना में बड़े काम का है ये Video

'बहू को अपनी आंखों के सामने तड़पते देखा', परिजनों ने खोली पोल

क्या भारत ने 700% ऑक्सीजन का निर्यात किया, PIB ने बताया इस वायरल मैसेज का सच?