Asianet News Hindi

Cyclone Tauktae का कहर: केरल में भारी बारिश, पीएम मोदी ने बुलाई बैठक; IAF-NDRF अलर्ट पर

कोरोना महामारी के बीच देश में नई आपदा दस्तक देने वाली है। दरअसल, अरब सागर के ऊपर बना दबाव क्षेत्र अब चक्रवाती तूफान तौकते में बदल गया है। बताया जा रहा है कि तौकते 18 मई के आसपास पोरबंदर और नलिया के बीच गुजरात तट को पार कर सकता है। इतना ही नहीं तौकते 16-18 मई के बीच अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। 

Cyclone Tauktae Heavy rain in Kerala Live Updates Gujarat maharashtra KPP
Author
New Delhi, First Published May 15, 2021, 7:22 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के बीच देश में नई आपदा दस्तक देने वाली है। दरअसल, अरब सागर के ऊपर बना दबाव क्षेत्र अब चक्रवाती तूफान तौकते में बदल गया है। बताया जा रहा है कि तौकते 18 मई के आसपास पोरबंदर और नलिया के बीच गुजरात तट को पार कर सकता है। इतना ही नहीं तौकते 16-18 मई के बीच अत्यंत भीषण चक्रवाती तूफान में तब्दील हो सकता है। 

पीएम मोदी ने बुलाई बैठक
'तौकते' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक उच्चस्तरीय मीटिंग बुलाई। बैठक में पीएम मोदी ने अफसरों को लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने इस दौरान अधिकारियों से बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल जैसी सभी जरूरी सेवाओं का रखरखाव सुनिश्चित करने के लिए कहा। पीएम मोदी ने कहा, चक्रवात के समय संवेदनशील इलाकों में स्थित अस्पतालों में कोरोना प्रबंधन, वैक्सीन कोल्ड चेन और पावर बैक अप और जरूरी दवाओं के स्टॉक को लेकर विशेष तैयारियां करने की जरूरत है।

बैठक में पीएम मोदी ने अफसरों को लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए हर संभव कदम उठाने का निर्देश दिया।


किन राज्यों में दस्तक दे सकता है तूफान

चक्रवाती तूफान 'तौकते' के लेकर देश में हाई अलर्ट जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि तूफान शनिवार शाम तक महाराष्ट्र, गोवा, दक्षिण कोंकण सहित कर्नाटक के कई इलाकों में पहुंचेगा। वहीं, केरल में शनिवार को कई हिस्सों में तेज बारिश हुई है। मछुआरों को समुद्र के अंदर ना जाने की सलाह दी गई है। 

एनडीआरएफ- एयरफोर्स अलर्ट पर
एनडीआरएफ की टीमें भी प्रभावित राज्यों में तैनात कर दी गई हैं। एनडीआरएफ की 42 टीमें केरल, गुजरात, तमिलनाडु, कर्नाटक, महाराष्ट्र में तैनात की गई हैं। जबकि 26 टीमें स्टैंडवाय पर हैं। एयरफोर्स भी अलर्ट पर है। एयरफोर्स ने 16 ट्रांसपोर्ट एयरक्रॉफ्ट और 18 हेलिकॉप्टर्स को स्टैंडवाय में रखा है। 

किस राज्य में क्या तैयारियां हुईं?

कर्नाटक : गृह मंत्री बसवराज बोम्मई और राजस्व मंत्री आर अशोक ने बेंगलुरु में कर्नाटक एसडीआरएफ के अधिकारियों के साथ आपात बैठक की। 

गुजरात: मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने Cyclone Tauktae को लेकर तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने कहा, गुजरात पूरी तरह तैयार है। हम इस विचार के साथ काम कर रहे हैं कि कोई हताहत न हो। 

गोवा: मौसम विभाग ने कोंकण और गोवा में 15 और 16 मई को भारी बारिश का अनुमान जताया है। ऐसे में गोवा सरकार ने चक्रवात से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाए हैं। 

लक्ष्यद्वीप: उधर, लक्ष्यद्वीप के अगत्ती एयरपोर्ट पर 16 मई तक सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है। एयरपोर्ट अथोर्रिटी ने यह जानकारी दी। 

महाराष्ट्र : मुंबई में चक्रवात को देखते हुए शनिवार और रविवार को वैक्सीनेशन कार्यक्रम बंद रहेगा। यह फैसला सीनियर सीटिजन्स को ध्यान में रखकर लिया गया है। दरअसल, मुंबई में भारी बारिश का अनुमान है, ऐसे में लोगों के इकट्ठा होने की भी उम्मीद है।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पालघर, रायगढ़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग के तटीय क्षेत्रों के जिला प्रशासन को खतरे से निपटने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए हैं। वहीं, निचले इलाकों से लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजा जा रहा है। इसके अलावा मुंबई में बांद्रा-वर्ली सी लिंक दो दिन के लिए बंद कर दिया गया है। इसके अलावा मुंबई के तटों को दो दिन के लिए आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है। हालांकि, चक्रवात से मुंबई को नुकसान होने की आशंका नहीं है। उधर, राज्य में खुले कोविड सेंटरों को सुरक्षित करने का काम भी किया जा रहा है।  

केरल: केरल में शनिवार को चक्रवात के चलते तेज बारिश हुई। तटीय इलाकों में समुद्र के पास रहने वाले परिवारों को घर छोड़कर राहत शिविरों में जाना पड़ रहा है। 

तमिलनाडु : तमिलनाडु में मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने शनिवार को अधिकारियों से तौकते चक्रवात को देखते हुए बांधों के जल स्तर पर नजर रखने के लिए कहा। साथ ही उन्होंने लोगों की सुरक्षा को लेकर जरूरी कदम उठाने को कहा। उधर, केरल से लगे इलाकों में तमिलनाडु में शनिवार को बारिश हुई। 
 
क्या कहा मौसम विभाग ने ?
मौसम विभाग के मुताबिक, तौकते अभी लक्षद्वीप में सक्रिय है और आज इसकी गति तेज हो सकती है। यह दक्षिण गुजरात और दीव के तटों से टकराएगा। यह 17 मई तक खतरनाक रूप ले सकता है और इस दौरान इसकी रफ्तार 150 से 160 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios