Asianet News Hindi

तौकते: कर्नाटक में 4 की मौत; गोवा में बारिश से तबाही ...मुंबई में ऑरेंज तो रायगढ़ में रेड अलर्ट

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार ‘तौकते’ चक्रवात का असर कर्नाटक, केरल, गुजरात सहित कई राज्यों में दिख सकता है। यहां भारी बारिश की आशंका है। तूफान के दौरान भारी बारिश और करीब 150-160 किमी की स्पीड से हवाएं चलने का अनुमान है। तमिलनाडु, पश्चिमी राजस्थान, महाराष्ट्र, लक्ष्यद्वीप क्षेत्र में भी इसका असर होगा। 

Cyclone Tauktae hits coastal parts of Goa, heading towards Gujrat, speed intensifying DHA
Author
New Delhi, First Published May 16, 2021, 12:03 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली। अरब सागर से बने चक्रवात ‘तौकते’ का खतरा कई राज्यों पर बढ़ चुका है। तौकते भारी नुकसान करते हुए आगे बढ़ रहा है। पांच राज्यों के लिए खतरा बना ‘तौकते’ चक्रवात गोवा के तटीय क्षेत्र से टकरा कर अब गुजरात की ओर बढ़ रहा है। मुंबई सहित कई क्षेत्रों में भी भारी बारिश की आशंका जताई गई है। यहां ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इसकेअलावा रायगढ़ में रेड अलर्ट जारी किया गया है। चक्रवात के प्रभाव वाले राज्यों में एनडीआरएफ अलर्ट मोड में है। 79 एनडीआरएफ की टीमों को तैनात किया गया है जबकि 22 को अलर्ट मोड में रखा गया है। आर्मी, नेवी, वायुसेना भी पूरी तरह तैयार है। कोस्ट गार्ड भी तैनात किए गए हैं। अगले 12 घंटों में यह तूफान काफी विनाशकारी हो सकता है। 18 मई को तूफान गुजरात के पोरबंदर और भावनगर जिले के महुआ कोस्ट के बीच से गुजरेगा।

भारी तबाही मचाते हुए आगे बढ़ रहा तौकते तूफान

गोवा के तटीय क्षेत्र से टकराने के बाद तेज रफ्तार से तौकते चक्रवात आगे बढ़ रहा है। पणजी में भारी बारिश व तेज आंधी से बहुत तबाही मची है। बड़े-बड़े पेड़, बिजली के पोल पूरे क्षेत्र में टूट कर गिरे हुए हैं। सैकड़ों की संख्या में वाहन-घर क्षतिग्रस्त हो गए। बिजली व्यवस्था ठप हो गई है। तमाम दीवारों के ढहने की सूचना है।
कर्नाटक में चार लोगों की मौत चक्रवात की वजह से हो गई। यहां 73 गांव प्रभावित हैं। यहां तूफान की वजह से भारी बारिश लगातार जारी है। मुंबई और आसपास के क्षेत्रों में हाईअलर्ट जारी किया गाय है। मौसम अचानक से यहां बदला है।

 

अगले तीन दिनों तक कई राज्यों में दिखेगा असर

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार ‘तौकते’ चक्रवात कर्नाटक, केरल, गुजरात सहित कई राज्यों अगले चार दिनों तक भारी तबाही मचा सकता है। कई जगह भारी बारिश ने तबाही शुरू कर दी है। तूफान के दौरान भारी बारिश और करीब 150-160 किमी की स्पीड से हवाएं चल रही है। तमिलनाडु, पश्चिमी राजस्थान, महाराष्ट्र, लक्ष्यद्वीप क्षेत्र में भी इसका असर होगा। चक्रवात का केंद्र करीब चार किलोमीटर के दायरे में है। 

 

79 एनडीआरएफ टीमें तैनात, वायुसेना भी अलर्ट

एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान ने बताया कि केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु, गुजरात, महाराष्ट्र में 79 एनडीआरएफ टीमें तैनात की गई है। इसके अलावा 22 टीमों को अलर्ट मोड में रखा गया है। इसके अलावा नेवी, आर्मी, कोस्ट गार्ड्स को भी तैनात कर दिया गया है। उधर, भारतीय वायुसेना भी आपदा पर लगातार निगरानी बनाए हुए है। तूफान की आशंका को देखते हुए वायुसेना ने अलर्ट मोड में रहते हुए 16 ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट, 18 हेलीकाॅप्टर को राहत कार्य के लिए तैयार किया है। 

पीएम मोदी ने की बैठक

‘तौकते’ से बचाव के लिए तैयारियों का जायजा लेने खातिर पीएम मोदी ने हाईलेवल मीटिंग की है। पीएम ने केंद्र सरकार के सीनियर अफसर्स के साथ महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक और गुजरात के अधिकारियों संग बैठक कर आवश्यक जानकारियां ली। 

गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यों के जिम्मेदारों संग तैयारियां का लिया जायजा

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने तौकते चक्रवात के बाद राहत कार्याें की तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक की। बैठक में गुजरात के महाराष्ट्र के मुख्यमंत्रियों, दादर-नागर हवेली, दमन-दीव के प्रशासकों से तैयारियों के संबंध में जानकारियां ली। राहत कार्य के लिए रणनीतियों पर चर्चा की और आवश्यक निर्देश दिए हैं। 
 

 

कर्नाटक में भारी बारिश

कर्नाटक एसडीआरएफ ने बताया कि ‘तौकते’ चक्रवात की वजह से राज्य के छह जिलों, तीन तटीय जिले और तीन मलनाड जिलों में भारी बारिश हुई है। इससे चार लोगों की जान जा चुकी है। क्षेत्र के 73 गांव चक्रवात से प्रभावित हैं। 

 

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios