नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली के तुगलकाबाद इलाके में बीती रात आग लगने से अफरा तफरी मच गई। आग तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी थी। बताया जा रहा है कि एक के बाद एक सिलसिलेवार तरीके से सिलेंडर फटने से आग तेजी से फैली। इस हादसे में 200 से ज्यादा झुग्गियां और गोदाम जलकर खाक हो गए। इस घटना के बाद मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियों ने काफी मशक्कत के बाद भयंकर हो चुके आग पर काबू पा लिया। 

आग कैसे लगी, स्थिति  साफ नहीं 

दक्षिणी दिल्ली जोन के डिप्टी चीफ फायर ऑफिसर एसएस तुली ने कहा कि तुगलकाबाद गांव में बड़े पैमाने पर लगी आग को बुझाने के लिए करीब 30 फायर टेंडर इलाके में भेजे गए थे। फिलहाल आग अब काबू में है और दमकल के अधिकारी आग लगने के कारण का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं। 

एसएस तुली ने कहा, 'करीब 30 फायर टेंडर घटनास्थल पर हैं। आग पर काबू पा लिया गया है। आग लगने की वजह का अभी तक पता नहीं चल पाई है। कोई हताहत नहीं हुआ है। स्थिति अब पूरी तरह से नियंत्रण में है और अब तक किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।'

दिसंबर 2019 में अनाज मंडी में लगी थी भीषण आग, हुईं थीं 43 मौतें 

दिल्ली के रानी झांसी रोड पर 8 दिसंबर 2019 की सुबह अनाज मंडी में भीषण आग लगने की घटना घटित हुई थी। इस हादसे में 43 लोगों की मौत हो गई थी। जबकि कई घायल भी हुए थे। मंडी में एक तीन मंजिला बेकरी है, बेकरी की ऊपरी मंजिल पर आग लगी थी। जिसके बाद आग ने पूरी इमारत को ही अपनी चपेट में ले लिया था। उस दौरान सभी मजदूर उस बेकरी फैक्ट्री के अंदर ही थे और आग लगने की किसी को भनक तक नहीं लगी। दम घुटने के बाद बिल्डिंग में हाहाकर मची और लोगों की मौत होने लगी थी।