Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोर्ट ने कहा-हमारे पास सरेंडर की अर्जी पर सुनवाई का अधिकार नहीं, बाहर निकलते ही ताहिर हुसैन अरेस्ट

उत्तर पूर्वी दिल्ली के इलाकों में हुई हिंसा में तीन मामलों में आरोपी बनाए गए आप के निलंबित पार्षद ताहिर हुसैन ने आज गुरुवार को कोर्ट में सरेंडर करने कोर्ट पहुंचा। जहां उसकी अर्जी पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा हमारे पास कोई अधिकार नहीं। जिसके बाद ताहिर को अरेस्ट कर लिया गया। 

Delhi violence: Former AAP Councillor Tahir Hussain moves court seeking to surrender before it kps
Author
New Delhi, First Published Mar 5, 2020, 2:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. नागरिकता संशोधन कानून को लेकर उत्तर पूर्वी दिल्ली के इलाकों में हुई हिंसा में तीन मामलों में आरोपी बनाए गए पार्षद ताहिर हुसैन आज गुरुवार को सरेंडर करने कोर्ट पहुंचा। जहां उसकी अर्जी पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा, हमारे पास कोई अधिकार नहीं। जिसके बाद ताहिर को अरेस्ट कर लिया गया। ताहिर हुसैन ने राउज एवेन्यू कोर्ट में सरेंडर की अर्जी लगाई थी। इससे पहले ताहिर हुसैन ने एक मीडिया से बात करते हुए खुद को बेगुनाह बताया। ताहिर हुसैन ने कहा कि आज मैं सरेंडर करना जा रहा हूं। जांच में मैं सहयोग करूंगा। इसके साथ ही उसने कहा कि वह हर तरह की जांच के लिए तैयार है नार्को टेस्ट के लिए भी तैयार है। 

सरेंडर करने से पहला मीडिया से की बात 

आरोपों पर ताहिर हुसैन ने कहा कि 24 फरवरी को मैं पुलिस के आला अधिकारियों की मौजूदगी में अपने परिवार से साथ वहां से निकल गया था। उसके बाद मेरा उस बिल्डिंग से कोई मतलब नहीं था। 25 फरवरी की शाम को यह वारदात हुई है। ताहिर ने कहा, मैंने 24 को पुलिस को फोन किया था। पुलिस ने मुझे निकाला था। पुलिस ने मेरे घर की तलाशी ली थी। मैंने उस समय ही कहा था कि मेरे मकान का कोई भी गलत इस्तेमाल कर सकता है। 

गिरफ्तारी से बचने के लिए अग्रिम जमानत की मांग

हिंसा के बाद से फरार चल रहे शाहरुख को तो गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसके बाद अब ताहिर हुसैन की गिरफ्तारी के लिए भी दिल्ली पुलिस पर दाबव बढ़ गया है। इसके साथ ही पुलिस ताहिर हुसैन की भी तलाश तेज कर दी गई है। ऐसे में गिरफ्तारी से बचने के लिए पहले ही ताहिर हुसैन ने कोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी दे दी है।

क्या हैं आरोप?

दिल्ली हिंसा के दौरान ताहिर हुसैन पर इंटेलिजेंस ब्यूरो के कर्मचारी अंकित शर्मा की हत्या के मामले का आरोप हैं। इसके साथ ही उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में ताहिर हुसैन के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोप है कि अंकित शर्मा को ताहिर हुसैन के घर के अंदर ले जाकर ही मारा गया था। अंकित शर्मा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि उसके शरीर पर चार सौ बार चाकू से वार किया गया।

घर की छत से मिला था हिंसा का सामान

हिंसा के बाद ताहिर हुसैन के घर से हिंसा में इस्तेमाल किया गया सामान भारी मात्रा में बरामद किया गया था। जिसके बाद से ही पुलिस ताहिर की तलाश कर रही है। लेकिन ताहिर अभी भी पुलिस की पहुंच से दूर है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios