Asianet News Hindi

चेन्नई में कोरोना से डॉक्टर की मौत, लोगों ने कब्रिस्तान में नहीं दफनाने दिया शव,दूसरी जगह किया गया दफन

चेन्नई में कोरोना के संक्रमण के शिकार एक डॉक्टर की मौत के बाद शव को दफनाने का लोगों ने विरोध किया। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक लोगों ने कब्रिस्तान में शव दफनाने पर ऐतराज जताते हुए एंबुलेंस पर हमला कर दिया। जिसके बाद पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। 

Doctor dies from Corona mob attacks ambulance and protest against burial of bodies in Tamilnadu kps
Author
Chennai, First Published Apr 20, 2020, 1:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चेन्नई. देश में जारी कोरोना से जंग में डॉक्टर्स, नर्स और पुलिस फ्रंट लाइन पर खड़े होकर लड़ रहे हैं। वहीं, दूसरी और मेडिकल टीम और पुलिस पर हमला जारी है। ऐसा ही एक घटना तमिलनाडु के चेन्नई से सामने आया है। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक कोरोना से संक्रमित डॉक्टर की मौत के बाद जब उसे दफनाने के लिए कब्रिस्तान ले जाया गया तो लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया और हमला बोल दिया। 

जानकारी के मुताबिक चेन्नई में सोमवार को जब एक डॉक्टर के शव को दफनाने के लिए कब्रिस्तान ले गए, तो वहां पर 50 से अधिक लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। भीड़ ने एम्बुलेंस पर हमला बोल दिया। बताया जा रहा है कि 55 वर्षीय डॉक्टर की मौत कोरोना वायरस की वजह से हुई है।

दूसरे कब्रिस्तान में दफनाया गया शव 

जब भीड़ पर वहां मौजूद पुलिस काबू नहीं पा पाई, तो उन्होंने डॉक्टर के परिजनों से अपील करते हुए शव को किसी दूसरे कब्रिस्तान में ले जाने के लिए कहा। जिसके बाद दूर किसी कब्रिस्तान में डॉक्टर के शव को दफनाया गया। इस मामले में अब पुलिस ने 20 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। पुलिस ने लॉकडाउन उल्लंघन, हथियार से हमला करने, सरकारी कर्मचारी को ड्यूटी से रोकने के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। 

एक और डॉक्टर के शव को दफनाने के दौरान हुआ था हंगामा 

बीते दिनों 13 अप्रैल को भी एम्बातुर के नागरिकों ने कब्रिस्तान के बाहर हंगामा किया था। तब एक 62 वर्षीय डॉक्टर की मौत कोरोना वायरस की वजह से हो गई थी और उसे जब कब्रिस्तान में दफनाने के लिए ले गए तो लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। तब भी पुलिस और स्थानीय प्रशासन की सहायता से डॉक्टर के शव को किसी दूसरे कब्रिस्तान में दफनाया गया। 

डॉक्टरों से लगातार किया जा रहा दुर्व्यवहार

कोरोना के खिलाफ जारी जंग में डॉक्टर और मेडिकल टीम जी जान से जुटी हुई है। इस दौरान डॉक्टर, नर्स और पुलिस टीम के साथ लगातार दुर्व्यवहार किया जा रहा है। पिछले दिनों मुरादाबाद में घर की छतों से डॉक्टर और पुलिस पर पत्थर बरसाए गए थे। वहीं, इंदौर में मेडिकल टीम पर चाकू से हमला किया गया था। इससे पहले भी इंदौर में ही स्क्रीनिंग करने के लिए गई मेडिकल टीम पर हमला हुआ था। इसके साथ ही बिहार, उत्तर प्रदेश और राजस्थान समेत कई राज्यों में डॉक्टरों और पुलिस टीम पर हमला किया जा चुका है। 

भारत में कोरोना की स्थिति

भारत में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 17 हजार के पार पहुंच गई है। जबकि अब तक 550 से अधिक मरीजों की जान जा चुकी है। कोरोना के संक्रमण से महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां संक्रमित मरीजों की संख्या 3900 तक पहुंच गई है। जबकि 200 से अधिक लोगों को जान गंवानी पड़ी है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios