नई दिल्ली. देश में जारी कोरोना संकट और लॉकडाउन के बीच 25 मई से घरेलू उड़ान की शुरूआत की गई। मास्क और पीपीई किट पहनकर यात्री भी पहुंचे। लेकिन पहले दिन ही ज्यादातर यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी। जहां एक ओर बिना जानकारी के मुंबई और बेंगलुरु में फ्लाइट रद्द कर दी गई। वहीं, दिल्ली में सुबह की फ्लाइट शाम को शेड्यूल कर दी गई। इतना ही नहीं इस बारे में यात्रियों को कोई मैसेज या अन्य माध्यम से जानकारी भी नहीं दी गई। 

मुंबई: महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई के छत्रपति शिवाजी एयरपोर्ट से 25 फ्लाइटों को उतरने और उड़ान भरने की मंजूरी दी है। लेकिन यहां मुंबई से दिल्ली जाने वाली फ्लाइट को बिना जानकारी दिए रद्द कर दिया गया। इस फ्लाइट से यात्रा करने के लिए पहुंची एक महिला यात्री ने बताया कि वे सुबह से फ्लाइट के लिए एयरपोर्ट पहुंचे थे। लेकिन यहां जाकर पता लगा की फ्लाइट रद्द हो गई। 

 

बेंगलुरु: बेंगलुरु एयरपोर्ट से हैदराबाद के लिए उड़ान भरने वाली फ्लाइट को भी रद्द कर दिया गया। एक यात्री ने बताया कि बिना किसी जानकारी के फ्लाइट को रद्द कर दिया गया। उन्होंने बताया कि उन्हें बोर्डिंग पास स्कैन करते वक्त ही यह जानकारी दी गई।
 

 

दिल्ली: यहां एक शख्स 60 दिन बाद ईद के दिन अपने घर लौटने की तैयारी से एयरपोर्ट पर पहुंचा था। लेकिन उसका उत्साह जल्द ही हताशा में बदल गया, जब उसे पता चला की रांची जाने वाली एयरइंडिया की फ्लाइट रद्द हो गई। इसी तरह एक अन्य यात्री जो फ्लाइट पकड़ने के लिए सुबह 4.30 बजे पहुंचा था। लेकिन जब वह एयरपोर्ट पर पहुंचा तो पता चला कि उसकी फ्लाइट शाम को शेड्यूल कर दी गई। इस बारे में यात्रियों को एयरपोर्ट पर ही जानकारी मिली।

एयरपोर्ट गुलजार हुए, पीपीई किट में दिखे यात्री
25 मार्च से घरेलू उड़ान सेवा बंद है। 61 दिन जब यह शुरू हुई तो एयरपोर्ट यात्रियों से गुलजार दिखे। लंबी लंबी लाइनें तो थीं, लेकिन लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दिखे। इतना ही नहीं लोग पीपीई किट और मास्क में भी नजर आए। 

यात्रा से पहले इन बातों का रखना होगा ध्यान
पिछले हफ्ते उड्डयन मंत्रालय ने 25 मई से फ्लाइटों को शुरू करने का ऐलान किया था। इसके बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने एयरपोर्ट को एसओपी जारी की थी। इसमें कहा गया था कि एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान दिया जाए। इसके अलावा सभी यात्रियों को आरोग्य सेतू ऐप डाउनलोड करनी होगी। इसके अलावा एयरपोर्ट पर एंट्री और उतरते वक्त लोगों को स्क्रीनिंग करनी होगी। 

हेल्थ मंत्रालय ने जारी कीं ये गाइडलाइन- 
प्लेन टिकट पर यात्रा के दौरान क्या करें या ना करें ये अंकित करना होगा। सभी यात्रियों के फोन में आरोग्य ऐप हो। विमान में चढ़ने से पहले स्क्रीनिंग की जाएगी। बिना लक्षण वाले लोगों को यात्रा की अनुमति दी जाएगी। बोर्डिंग और एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा। विमान में सैनिटाइजेशन और डिस्इंफेक्शन की व्यवस्था होनी चाहिए। एयरपोर्ट या यात्रा के वक्त मास्क पहनना जरूरी है। एयरपोर्ट पर उतरते वक्त भी स्क्रीनिंग की जाएगी। स्क्रीनिंग के वक्त किसी यात्री को लक्षण दिखते हैं तो उन्हें नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में भेजना होगा। अगर यात्री को कोई लक्षण नहीं दिखते तो उन्हें होम क्वारंटाइन होना होगा।