Asianet News HindiAsianet News Hindi

शपथ ग्रहण के दौरान भड़के राज्यपाल कोश्यारी, कांग्रेस विधायक को दी यह नसीहत, दोबारा दिलाई शपथ

शपथ ग्रहण के दौरान उस वक्त असहज स्थिति उत्पन्न हो गई। जब राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी कांग्रेस के नेता पर नाराज हो गए। जिसके बाद उन्होंने नसीहत देते हुए कांग्रेस विधायक को दोबारा शपथ दिलाई। कांग्रेस विधायक केसी पाडवी ने शपथ ग्रहण के दौरान अलग से कुछ लाईनें पढ़ दी। जिसके कारण यह स्थिति उत्पन्न हुई। 

During the swearing-in Governor Koshiyari angry kps
Author
Mumbai, First Published Dec 30, 2019, 6:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. महाराष्ट्र में काफी जद्दोजहद के बाद शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के बीच बनी गठबंधन की सरकार का आज मंत्रिमंडल विस्तार किया गया। राजभवन में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने मंत्री बनाए गए नेताओं को पद और गोपनियता की शपथ दिलाई। जिसमें एनसीपी प्रमुख शरद पवार के भतीजे अजित पवार को उपमुख्यमंत्री बनाया गया है। वहीं, प्रदेश के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया है। शपथ ग्रहण के दौरान उस वक्त असहज स्थिति उत्पन्न हो गई। जब राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी कांग्रेस के नेता पर नाराज हो गए। 

दोबारा दिलवाई शपथ

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी नवनियुक्त मंत्रियों को शपथ दिला रहे थे। इसी दौरान वह भड़क गए जब कांग्रेस विधायक के सी पाडवी ने शपथ के फॉर्मेट से हटकर कुछ लाइनें जोड़ दीं। इसके बाद राज्यपाल तल्ख अंदाज में बोलते हुए उन्हें फिर से मंच पर बुलाया और वापस शपथ दिलवाई। इस दौरान शपथ ग्रहण के समय स्थिति असहज हो गई।

28 नवंबर को ठाकरे ने ली थी शपथ 

महीने भर पहले 28 नवंबर को सरकार के गठन के बाद उद्धव ठाकरे ने शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इस दौरान तीनों दलों से दो-दो विधायकों ने मंत्री पद की शपथ ली थी। जिसमें एनसीपी से छगन भुजबल और जयंत पाटील, कांग्रेस से बालासाहेब थोराट और नितिन रावत और शिवसेना से एकनाथ शिंदे और सुभाष देसाई थे। 

आदित्य ठाकरे ने भी कैबिनेट मंत्री की शपथ ली

मंत्रियों की लिस्ट में ऐन वक्त पर नाम उभर आया आदित्य ठाकरे का जिसने सभी को चौंकाया। आदित्य ठाकरे ने भी कैबिनेट मंत्री की शपथ ली है। उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था और मध्य मुंबई के वर्ली इलाके से विधायक चुने गए हैं आदित्य ठाकरे युवा सेना के प्रमुख भी हैं। आदित्य ठाकरे तो मंत्री बनाये जाने से खुश नज़र आये लेकिन मंत्री बनने के सपने देख रहे सुनील राउत नाराज़ हो गए। सुनील राउत शिवसेना सांसद संजय राउत के भाई हैं। मंत्री न बनाये जाने पर उन्होंने विधायक पद से इस्तीफा देने की धमकी दे डाली। 

शिवसेना एनसीपी के 13 कांग्रेस 10 विधायकों ने ली शपथ 

सोमवार को हुए शपथ ग्रहण समारोह में शिवसेना के 13, एनसीपी के 13 और कांग्रेस के 10 मंत्रियों ने शपथ ली। शपथ लेने वाले प्रमुख चेहरों में कांग्रेस से अशोक चव्हाण, विजय वटेड्डीवार, वर्षा गायकवाड़, अब्दुल सत्तार जैसे चेहरे थे। वहीं एनसीपी से शपथ लेने वालों में धनंजय मुंडे, दिलीप वलसे पाटिल और जीतेन्द्र आव्हाड थे। शिवसेना ने कई पुराने चेहरों का पत्ता काट दिया और नए नामों को मंत्री बनाया। 

पिछली बार किया था माफ 

289 नवंबर को शिवाजी पार्क में आयोजित शपथ ग्रहण के दौरान कई नेताओं ने भी कुछ इसी प्रकार हरकत की थी। उस दौरान राज्यपाल ने नजर अंदाज कर दिया था। लेकिन बाद में उन्होंने बकायदा पत्र लिखकर आपत्ती जताई थी। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios