Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon Alert: पूर्वोत्तर मप्र से पश्चिमी हिस्सों में शिफ्ट हुआ भारी बारिश का डर, जानिए विभिन्न राज्यों का हाल

मानसूनी बारिश ने कई राज्यों में तबाही के मंजर ला दिए हैं। पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश को भारी बारिश से राहत मिलने की उम्मीद है, लेकिन अब पश्चिम के कुछ हिस्सों में यही अलर्ट जारी किया गया है। राजस्थान, केरल, अंडमान-निकोबार में भारी बारिश का अलर्ट है।
 

Effect of Southwest Monsoon in India, heavy rain forecast in many states including Madhya Pradesh kpa
Author
New Delhi, First Published Aug 23, 2022, 6:43 AM IST

मौसम डेस्क. दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) की सक्रियता ने मध्य प्रदेश सहित कई राज्यों में तबाही मचा दी है। हालांकि पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश पर बना हुआ डिप्रेशन 15 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिमी दिशा में बढ़ गया है। लेकिन अब मध्य प्रदेश के पश्चिमी हिस्से में मध्यम से भारी बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर बहुत भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि आजकल में पूर्वी और दक्षिण राजस्थान, गुजरात के कुछ हिस्सों, केरल और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। ( तस्वीर मप्र के जबलपुर की है, जहां नर्मदा नदी के किनारे बाढ़ के पानी में मंदिर डूब गया)

इन राज्यों में मध्यम या हल्की बारिश संभव
मौसम विभाग के अनुसार, पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल, बिहार के कुछ हिस्सों, झारखंड, ओडिशा, तमिलनाडु, जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के शेष हिस्सों, झारखंड, तेलंगाना, तटीय आंध्र प्रदेश और आंतरिक कर्नाटक में हल्की बारिश संभव है।

मप्र को मिल सकती है भारी बारिश से राहत
मध्य प्रदेश के कई हिस्सों में सोमवार को तीसरे दिन भी भारी बारिश जारी रही, जिससे राज्य की राजधानी भोपाल और जबलपुर समेत कुछ जिलों में स्कूल बंद रहे। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने सोमवार के लिए रेड अलर्ट जारी किया था। इसमें जिसमें राज्य के पश्चिमी हिस्सों में अलग-अलग स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा के साथ भारी से बहुत भारी वर्षा की भविष्यवाणी की गई है। आईएमडी के भोपाल कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी वेद प्रकाश सिंह के अनुसार, मंगलवार से बारिश की गतिविधि कम होने की उम्मीद जताई है।

उत्तर ओडिशा में बाढ़ की स्थिति गंभीर, बालासोर में और बारिश की संभावना
बालासोर सहित उत्तरी ओडिशा के कई जिलों में बाढ़ की स्थिति सोमवार को गंभीर हो गई। नदियों के उफान से निचले इलाकों में पानी भर गया, जिससे कम से कम 134 गांवों के लोग फंस गए। अधिकारियों के अनुसार, उत्तरी ओडिशा में सुवर्णरेखा, बुधबलंग, जलाका और बैतरणी जैसी नदियां बंगाल की खाड़ी के ऊपर गहरे दबाव के कारण हुई भारी बारिश और झारखंड से बाढ़ के पानी के छोड़े जाने के कारण उफान पर हैं। अधिकारियों ने बताया कि उत्तर ओडिशा की बाढ़ से बालासोर, मयूरभंज, जाजपुर और भद्रक जिलों के 251 गांव प्रभावित हुए हैं, जबकि प्रभावित आबादी की संख्या 9.66 लाख को पार कर गई है। इस बीच आईएमडी ने मंगलवार और बुधवार को बालासोर में और बारिश की चेतावनी दी है।

राजस्थान के कुछ हिस्सों में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात, राजस्थान के कोटा और झालावाड़ जिलों और आसपास के इलाकों में भारी बारिश और बाद में बांधों से अतिरिक्त पानी छोड़े जाने से एक कपल की मौत हो गई। इन जिलों के निचले इलाकों से हजारों लोगों को निकाला गया है। कोटा, झालावाड़ और बूंदी में प्रशासन ने मंगलवार को सरकारी और निजी स्कूलों में छुट्टी की घोषणा की है। सोमवार को भी स्कूल बंद रहे। मौसम विभाग ने आजकल में बांसवाड़ा और डूंगरपुर में अलग-अलग स्थानों पर भारी से बहुत भारी वर्षा और भीलवाड़ा और चित्तौड़गढ़ में अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा की भविष्यवाणी की है। 

दिल्ली में मौसम का हाल
दिल्ली में सोमवार को मौसम खराब रहा और अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री अधिक 36.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।    न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 27.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने मंगलवार को तेज हवाओं के साथ बहुत हल्की बारिश या बूंदा बांदी के साथ आसमान में आमतौर पर बादल छाए रहने की भविष्यवाणी की है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस और 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, मध्य प्रदेश के कई हिस्सों और दक्षिण-पूर्वी राजस्थान में मध्यम से भारी बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर बहुत भारी बारिश हुई। हिमाचल प्रदेश, पूर्वी असम, मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों और झारखंड में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश दर्ज की गई।

पूर्वोत्तर भारत, गंगीय पश्चिम बंगाल, तेलंगाना, छत्तीसगढ़, तमिलनाडु के कुछ हिस्सों, केरल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, तटीय कर्नाटक, मध्य महाराष्ट्र और कोंकण और गोवा में हल्की से मध्यम बारिश रिकॉर्ड की गई।

दिल्ली, राजस्थान के पश्चिमी हिस्सों, गुजरात, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, बिहार, आंतरिक कर्नाटक, तटीय ओडिशा, छत्तीसगढ़ के कुछ हिस्सों, उत्तराखंड और जम्मू कश्मीर में हल्की बारिश बारिश होती रही।

यह भी पढ़ें
देश के 5 राज्यों में भारी बारिश ने मचाई तबाही, अधिकांश डैम ओवरफ्लो, मप्र में तेज हवाओं से बिजली घंटों बंद
भोपाल में बारिश से मचा हाहाकार: 200 कॉलोनियों में भरा पानी, घर छोड़ने लगे लोग और मौत भी होने लगी

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios