नई दिल्ली. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर मंत्रालय की उपलब्धियां बताईं। इस दौरान उन्होंने पाक अधिकृत कश्मीर को लेकर बड़ी बात कही। जयशंकर ने कहा कि पीओके भारत का हिस्सा है। हमें भरोसा है कि इसे एक दिन अपने अधिकार में ले लेंगे। 

विदेश मंत्री ने कहा, मोदी सरकार ने विदेश नीति को राष्ट्रीय सुरक्षा से जोड़ने का काम किया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक अलग तरीके की समस्या है। उन्होंने कहा कि कश्मीर पर एक सीमा के बाद हमें बहुत ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है, क्यों कि यह भारत का आंतरिक मामला है। इसे बहुत ज्यादा प्रचारित किया गया। 

'दुनिया में भारत की बात सुनी जा रही'
जयशंकर ने दुनिया में भारत की स्थिति को लेकर कहा, मैं मानता हूं कि आज के दौर में जी-20, ब्रिक्स जैसे सम्मेलनों में भारत की आवाज और विचार को पहले से बेहतर और स्पष्ट तरीके से सुना जा रहा है। आज अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत के प्रभाव को देखा जा सकता है।
 
सुषमा स्वराज के योगादन का भी किया जिक्र
प्रेस कॉन्फ्रेंस की शुरुआत से पहले जयशंकर ने पूर्व विदेश मंत्री और दिवंगत नेता सुषमा स्वराज को याद किया। उन्होंने कहा, मैं सिर्फ 100 दिनों की नहीं बल्कि पिछली सरकार की 5 साल की नीतियों का भी जिक्र करूंगा। उन्होंने सुषमा स्वराज द्वारा विदेश नीति को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए आभार बताया।