Asianet News HindiAsianet News Hindi

चिता जलने से पहले शव के 'हिलने लगे हाथ', लाश को लेकर अस्पताल पहुंचे परिजन, डॉक्टर बोले, यह जिंदा..

उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक किशोर को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद जब परिजन अंतिम संस्कार के लिए शव को घाट पर लेकर पहुंचे तो लोगों ने युवक के जिंदा होने की आशंका जताई। 

family took dead body in hospital, doctor Declared dead in sant kabir nagar KPP
Author
Lucknow, First Published Dec 30, 2019, 8:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के संतकबीरनगर से एक चौकाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक किशोर को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद जब परिजन अंतिम संस्कार के लिए शव को घाट पर लेकर पहुंचे तो लोगों ने युवक के जिंदा होने की आशंका जताई। इसके बाद उसे दोबारा अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टर ने देखते ही फिर मृत घोषित कर दिया।

क्या है मामला? 
संतकबीरनगर जिले के मेंहदावल कस्बा के सोनबरसा वार्ड में संतोष यादव के 14 साल के बेटे विशाल यादव की तबीयत शनिवार रात बिगड़ गई। वे उसे अस्पताल ले गए,  यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों का कहना है कि ठंड लगने से बेटे की तबीयत बिगड़ी थी। 

चिता से अस्पताल ले गए शव
अंतिम संस्कार के लिए परिजन रविवार को शव को घाट ले गए। यहां लोगों ने मृतक का शरीर गर्म देखा। तभी किसी ने वहां हाथ पैर हिलने की अफवाह उड़ा दी। परिजनों ने इस अफवाह पर विश्वास कर शव को अस्पताल ले पहुंचे। यहां डॉक्टर ने उसे फिर मृत घोषित कर दिया। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios