Asianet News Hindi

किसान आंदोलन : 8 जनवरी को किसान और सरकार के बीच 9वें दौर की मीटिंग, जानिए 8 बैठकों का रिपोर्ट कार्ड

 कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन 43वें दिन भी जारी रहा। गुरुवार को किसानों ने दिल्ली के चारों तरफ ट्रैक्टर मार्च निकाला। किसानों का दावा है कि इस रैली में 60 हजार ट्रैक्टर शामिल हुए। वहीं, इन मुद्दों को हल करने के लिए शुक्रवार को किसान संगठनों और सरकार के बीच 9वें दौर की बातचीत होगी।

farmers protest farmers government 9th round talks on farms bill KPP
Author
New Delhi, First Published Jan 7, 2021, 8:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का प्रदर्शन 43वें दिन भी जारी रहा। गुरुवार को किसानों ने दिल्ली के चारों तरफ ट्रैक्टर मार्च निकाला। किसानों का दावा है कि इस रैली में 60 हजार ट्रैक्टर शामिल हुए। वहीं, इन मुद्दों को हल करने के लिए शुक्रवार को किसान संगठनों और सरकार के बीच 9वें दौर की बातचीत होगी। इससे पहले 4 जनवरी को बैठक हुई थी, हालांकि, यह बेनतीजा रही थी। 

वहीं, किसानों का कहना है कि सरकार अगर कानूनों को वापस नहीं लेती तो 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड होगी। गुरुवार को हुआ मार्च इसका ट्रेलर था। वहीं, किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि किसान मई 2024 तक आंदोलन के लिए तैयार हैं। 

किसान-सरकार के बीच कैसी रहीं 8 बैठकें ? 

पहली बैठक : 14 अक्टूबर - किसानों ने बैठक का बायकॉट किया। 
दूसरी बैठक : 13 नवंबर- 7 घंटे बैठक चली। कोई नतीजा नहीं निकला।
तीसरी बैठक : 1 दिसंबर- 3 घंटे बैठक चली, सरकार ने एक्सपर्ट कमेटी बनाने का प्रस्ताव रखा, किसानों ने ठुकरा दिया। बैठक बेनतीजा। 
चौथी बैठक : 3 दिसंबर - 7 घंटे बातचीत, किसान कानून रद्द करने की मांग पर अड़े
पांचवीं बैठक : 5 दिसंबर - सरकार एमएसपी पर लिखित गारंटी देने को तैयार। किसान कानून रद्द करने की मांग पर अड़े। 
छठवीं बैठक: 8 दिसंबर : सरकार ने 22 पेज का प्रस्ताव दिया। किसानों ने खारिज किया। 
सातवीं बैठक : 30 दिसंबर :  2 मुद्दों पर बनी सहमति (1- पराली जलाने पर केस दर्ज नहीं होंगे। अभी 1 करोड़ रुपए जुर्माना और 5 साल की कैद का प्रावधान है। सरकार ने इसे हटाने पर हामी भर दी है। 2- बिजली अधिनियम में बदलाव नहीं किया जाएगा। किसानों का आशंका है कि इस कानून से बिजली सब्सिडी बंद हो जाएगी। अब यह कानून नहीं बनेगा। )
आठवीं बैठक : 4 जनवरी : किसानों की मांग, तीनों कानून रद्द हों, एमएसपी पर कानूनी गारंटी मिले। बातचीत बेनतीजा। 

अब आगे क्या ? 

26 जनवरी को बड़ा ट्रैक्टर मार्च निकालने की तैयारी

किसानों ने कहा कि 26 जनवरी को जो ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा, यह उसकी तैयारी है। बता दें कि किसानों ने ऐलान किया था कि वे 26 जनवरी को लाल किले तक ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। हरियाणा के किसान संगठनों ने हर गांव से 10 महिलाओं को 26 जनवरी के लिए दिल्ली बुलाया है। 

हरियाणा में 250 महिलाएं ट्रैक्टर चलाना सीख रही हैं
26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च में शामिल होने के लए हरियाणा की करीब 250 महिलाएं टैक्टर चलाने की ट्रैनिंक ले रही हैं। इन्हीं की अगुआई में गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च निकाला जाएगा।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios