Asianet News Hindi

ओवैसी के मंच से लड़की ने जैसे ही बोला, पाकिस्तान जिंदाबाद, सभी के उड़ गए होश, तुरन्त छीनने लगे माइक

वारिस पठान के हिंदुओं पर दिए विवादित बयान को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी आलोचना झेल ही रहे थे कि एक नया विवाद खड़ा हो गया है। बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में एक रैली के दौरान एक लड़की ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा दिए। 

girl shouted slogans of Pakistan Zindabad from the stage of Asaduddin Owaisi in Bengaluru kpn
Author
Bengaluru, First Published Feb 20, 2020, 8:33 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेंगलुरु. वारिस पठान के हिंदुओं पर दिए विवादित बयान को लेकर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी आलोचना झेल ही रहे थे कि एक नया विवाद खड़ा हो गया है। बेंगलुरु में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में एक रैली के दौरान एक लड़की ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगा दिए। उस दौरान मंच पर ओवैसी भी मौजूद थे। पुलिस ने तुरन्त लड़की को हिरासत में ले लिया। हालांकि ओवैसी ने फौरन मंच से ही घटना की निंदा की।

मंच से क्या-क्या कहा गया?
लड़की ने बोला, हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान जिंदाबाद के बीच फर्क है। इससे पहले कि वह अपनी बात पूरी करती, वहां मौजूद आयोजकों ने उससे माइक छीनने की कोशिश की। कुछ देर बाद वहां पुलिस पहुंच गई और उसे हिरासत में ले लिया। लड़की का नाम अमूल्य बताया जा रहा है। 

वारिस पठान ने क्या कहा था?
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता वारिस पठान का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में वे असदुद्दीन ओवैसी के सामने ही हिंदुओं को धमकी दे रहे हैं। उन्होंने कहा, "आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती उसे छीनकर लेना पड़ेगा। हम (मुसलमान) 15 करोड़ हैं, लेकिन 100 करोड़ (हिंदू) पर भारी हैं। उन्होंने शाहीन बाग में बैठी महिलाओं को शेरनियां बताया। वारिस फठाने कहा, "हमको कह रहे हैं कि अपनी मां-बहनों को आगे भेज दिया और खुद छिप गए हैं। अभी तो सिर्फ शेरनियां बाहर निकली हैं और तुम्हारे पसीने छूट गए। समझ लो कि अगर हम लोग साथ में आ गए तो क्या होगा?" बता दें कि दिल्ली के शाहीन बाग में करीब दो महीने से नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने विरोध प्रदर्शन खत्म करने के लिए वार्ताकारों की एक टीम तैयार की है। उन्होंने प्रदर्शनकारियों से बात भी की, लेकिन धरने पर बैठे लोग अपनी मांग पर अड़े रहे।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios