Asianet News Hindi

कंगना का ऑफिस तोड़ने के मामले पर सुनवाई, वकील ने कहा, तोड़फोड़ के बाद राउत के अखबार ने मनाया जश्न

कंगना रनौत के ऑफिस में तोड़फोड़ करना बीएमसी को भारी पड़ सकता है। हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान कंगना के वकील बिरेंद्र सराफ ने कहा कि तोड़फोड़ के बाद संजय राउत के अखबार ने जस्न मनाया था। पूरे देश ने देखा। मेरे क्लाइंट से बदला लिया गया। 

Hearing in the High Court in the case of breaking the office of Kangana Ranaut kpn
Author
Mumbai, First Published Sep 28, 2020, 8:38 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई. कंगना रनौत के ऑफिस में तोड़फोड़ करना बीएमसी को भारी पड़ सकता है। हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान कंगना के वकील बिरेंद्र सराफ ने कहा कि तोड़फोड़ के बाद संजय राउत के अखबार ने जश्न मनाया था। पूरे देश ने देखा। मेरे क्लाइंट से बदला लिया गया। 

कंगना के वकील ने कोर्ट में क्या-क्या कहा?

  • कंगना के वकील ने कोर्ट में कहा, कंगना ने सरकार की आलोचना की। मुंबई पुलिस के काम पर सवाल खडे़ किए। तब जज ने कंगना के सभी ट्वीट दिखाने के लिए कहा। 
  • वकील ने दावा किया कि संजय राउत ने उन्हें पाठ पढ़ाने की बात कही थी। 
  • कंगना के वकील ने कहा, ऑफिस गिराए जाने के बाद संजय राउत के अखबार ने जश्म मनाया था। पूरे देश ने देखा। 
  • इस बात से इनकार नहीं कर सकते हैं कि मेरे क्लाइंट से बदला लिया गया। 

संजय राउत के वकील ने क्या-क्या कहा?

  • कोर्ट में संजय राउत के वकील प्रदीप थोराट ने दावा किय कि बयान में कंगना का नाम नहीं लिया गया। तब जज ने कहा, क्या आपने उन्हें 'ह....' नहीं कहा था?

पहले की सुनवाई में कोर्ट ने बीएमसी को फटकार लगाई थी

इससे पहले की सुनवाई में बीएमसी ने अपना जवाब कोर्ट में नहीं दिया था, जिसपर कोर्ट ने फटकार लगाई थी। केस की सुनवाई के दौरान जस्टिस एसजे काठवल्ला और जस्टिस आरआई छागला की बेंच ने कहा कि मानसून में आप लोगों (बीएमसी) ने कार्रवाई की। ऐसे में और ज्यादा दिन सुनवाई नहीं टाल सकते। जब कार्रवाई करने की बात थी तो आपने बहुत तेजी दिखाई। जब जवाब देने की बात आई तो सुस्ती दिखाई जा रही है। किसी का घर तोड़ दिया गया है। हम बरसात के मौसम में उस ढांचे को यूं नहीं दे सकते।

ऑफिस टूटने के बाद मौके पर कंगना पहुंची थी, तभी की तस्वीर

9 सितंबर को तोड़ा गया था कंगना का ऑफिस

कंगना रनोर्ट द्वारा मुंबई को पीओके बताने वाले बयान के बाद बीमएसी ने उनके पाली हिल स्थित ऑफिस को अवैध बताते हुए 9 सितंबर को तोड़ दिया था। इसके बाद कंगना ने बीमएसी के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका लगाई थी। हाईकोर्ट ने ही संजय राउत के साथ-साथ आदेश जारी करने वाले अधिकारी को भी इस केस में पार्टी बनाया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios