Asianet News Hindi

बोहरा समुदाय के हुसैन बुरहानुद्दीन ने की पीएम मोदी से मुलाकात, PM ने खुद ट्वीट कर दी जानकारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को दाऊदी बोहरा समुदाय के शहजादा हुसैन बुरहानुद्दीन से मुलाकात की है। पीएम मोदी ने खुद ट्वीट कर इस मुलाकात की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि हुसैन बुरहानुद्दीन ने बोहरा समुदाय द्वारा समाज की सेवा में किए जा रहे सराहनीय कार्यों के बारे में उनसे बात की।

Hussain Burhanuddin of Bohra community met PM Modi
Author
New Delhi, First Published Nov 2, 2020, 6:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को दाऊदी बोहरा समुदाय के शहजादा हुसैन बुरहानुद्दीन से मुलाकात की है। पीएम मोदी ने खुद ट्वीट कर इस मुलाकात की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि हुसैन बुरहानुद्दीन ने बोहरा समुदाय द्वारा समाज की सेवा में किए जा रहे सराहनीय कार्यों के बारे में उनसे बात की।

पीएम ने किया फोटो शेयर
पीएम मोदी ने सोमवार को हुई इस मुलाकात का फोटो भी अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है। बता दें कि शहजादा हुसैन बुरहानुद्दीन दाऊदी बोहरा समुदाय के मौजूदा सर्वोच्च धर्मगुरू सैय्यदना मुफद्दल सैफुद्दीन के तीसरे बेटे हैं। सैय्यदना मुफद्दिल सैफुद्दीन दाऊदी बोहरा समुदाय के 53वें धर्मगुरू हैं। 

इंदौर में की थी पीएम मोदी ने धर्मगुरू सैय्यदना से मुलाकात
आपको बता दें कि सैय्यदना सैफुद्दीन वही धर्मगुरू हैं, जिनसे साल 2018 में पीएम नरेंद्र मोदी ने इंदौर जाकर मुलाकात की थी और उनके सामने हाथ जोड़कर आशीर्वाद लिया था। इसके साथ ही तत्कालीन शिवराज सिंह सरकार ने सैय्यदना सैफुद्दीन को राजकीय अतिथि का दर्जा दिया था। गौरतलब है कि इस बड़े कार्यक्रम में पीएम मोदी और सीएम शिवराज सिंह दोनों ही शामिल हुए थे।

मस्जिद में आयोजित कार्यक्रम में गए थे पीएम मोदी
इंदौर की सैफी मस्जिद में आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा था कि बोहरा समुदाय और उसकी राष्ट्रभक्ति की अहम भूमिका रही है। मोदी ने कहा था कि बोहरा समुदाय सभी को साथ लेकर चलता है। पीएम मोदी ने यहां तक कहा था कि देश के लिए कैसे जिया जाता है यह बोहरा समुदाय ने सिखाया।

भारत में काफी कम संख्या है बोहरा समुदाय की
मालूम हो कि बोहरा समुदाय के मुसलमानों की संख्या भारत में काफी कम है। हालांकि, आर्थिक और सामाजिक तौर पर ये समुदाय काफी विकसित है। बोहरा समुदाय में आध्यात्मिक गुरुओं की परंपरा दशकों से चली आ रही है। जो धर्मगुरू समुदाय का नेतृत्व करते हैं वो दाई-अल-मुतलक सैय्यदना कहलाते हैं।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios