नई दिल्ली. कोरोना महामारी के बीच इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च  ने नई गाइडलाइन जारी की है। आईसीएमआर ने सभी राज्यों को एंटीजन टेस्ट करने की इजाजत दे दी है। आईसीएमआर के मुताबिक, एंटीजन टेस्ट किट के जरिए ऑन द स्पॉट जांच कराई जा सकती है। 30 मिनट में रिजल्ट आ जाता है। एक किट की कीमत 450 रुपए है। अगर कोरोना संदिग्ध का एंटीजन टेस्ट निगेटिव आता है तो उनका आरटी-पीसीआर टेस्ट किया जाएगा। 

- सभी हॉस्पिटल्स, ऑफिस और पब्लिक सेक्टर यूनिट को भी रैपिड एंटीजन टेस्ट कराने की सलाह दी गई है। एंटीजन टेस्ट इसलिए कराया जाता है ताकि यह पता लगाया जा सके कि इंसान को पहले कभी कोरोना का संक्रमण हुआ था या नहीं।

कहां होगा रैपिड एंटीजन टेस्ट?
एंटीजन टेस्ट राज्य सरकार द्वारा चिन्हित कंटेनमेंट जोन में होगा। इसके अलावा सभी सेट्रल- स्टेट गवर्नमेंट कॉलेज और गवर्नमेंट हॉस्पिटल में टेस्ट होगा।

- नेशनल एक्रिडिटेशन बोर्ड फॉर हॉस्पिटल एंड हेल्थकेयर से मान्यता प्राप्त प्राइवेट हॉस्पिटल्स में होगा।

- आईसीएमआर से मान्यता प्राप्त टेस्टिंग लैब में भी होगा। 

किसे कराना होगा टेस्ट?
आईसीएमआर के मुताबिक, टेस्ट ऐसे लोगों को कराना होगा, जिनमें लक्षण नहीं दिख रहे हैं। या संक्रमण मरीजों से मिले हैं। इसके अलावा हॉस्पिटल्स में भर्ती कीमौथैरेपी व ट्रांसप्लांट के मरीज और 65 साल से अधिक लोगों का भी जांच करने की बात कही गई है।