Asianet News Hindi

असम में पत्रकार को खम्भे से बांध कर पीटा, जुआरियों के खिलाफ की थी रिपोर्टिंग

असम के एक पत्रकार को एक खंभे से बांधकर उसकी पिटाई करने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आने से हडकंप मच गया है। इस घटना के कुछ फुटेज सामने आए थे, जिसमें देखा जा सकता है कि इस पत्रकार को एक बिजली के खंभे से बांधकर पीटा जा रहा है।

In Assam a journalist was beaten up with a pillar reporting against gamblers kpl
Author
Guwahati, First Published Nov 19, 2020, 2:47 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

गुवाहाटी. असम के एक पत्रकार को एक खंभे से बांधकर उसकी पिटाई करने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर सामने आने से हडकंप मच गया है। इस घटना के कुछ फुटेज सामने आए थे, जिसमें देखा जा सकता है कि इस पत्रकार को एक बिजली के खंभे से बांधकर पीटा जा रहा है। इस मामले में पत्रकार की तहरीर पर कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस पूरे मामले की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पूरे देश के पत्रकारों में आक्रोश है।

सोशल मीडिया पर वायरल फुटेज में असम के एक बड़े अखबार के पत्रकार मिलन महंता हैं, जो करुप जिले से आते हैं। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि उनके हाथ खंभे से बांध दिए गए हैं और पांच व्यक्ति उन पर हमला कर रहे हैं। जानकारी है कि यह घटना रविवार को मिर्ज़ा में घटी थी, जो गुवाहाटी से 40 किमी पश्चिम में है। पत्रकार मिलन महंता को गर्दन, सिर और कानों पर चोट आई है।  उन्होंने पलाश बारी पुलिस स्टेशन में एक एफआईआर दर्ज कराई है। उन्होंने अपनी एफआईआर में बताया है कि उनके हमलावर जुआरी थे।

ग्रामीण इलाके में होने वाले जुए पर की थी रिपोर्टिंग 
महंता ने हाल ही में असम में दीवाली के पहले ग्रामीण इलाकों में बढ़ जाने वाले जुए के चलन पर न्यूज रिपोर्ट की सीरीज पूरी की थी। महंता के सहयोगी बुधवार से उनके हमले के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले हैं। पुलिस ने इस हमले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि वो बाकी हमलावरों को ढूंढ रहे हैं। सामने आए वीडियो में जो घटनाक्रम है, उसके हिसाब से मिलन महंता सड़क के किनारे एक दुकान के सामने रुकते हैं, तभी उनको कुछ लोग घेर लेते हैं और फिर उन्हें पास के बिजली के खंभे से बांधकर पीटा जाता है। वीडियो में हमलावर यह दावा करते हुए सुनाई दे रहे हैं कि महंता ने उनसे पैसे मांगे थे, इन आरोपों को उनके साथी कर्मचारियों ने खारिज कर दिया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios