Asianet News Hindi

डीबी कार्प पर शेल कंपनियों के माध्यम से टैक्स चोरी का है आरोप, 8 से ज्यादा शहरों में 32 जगहों पर छापामारी

देश के जाने-माने मीडिया ग्रुप दैनिक भास्कर के भोपाल स्थित हेड ऑफिस सहित जयपुर और अहमदाबाद सहित कई ठिकानों पर आयकर के छापे। गुरुवार तड़के दिल्ली-मुंबई की टीम ने शुरू की कार्रवाई। टीम में प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी भी शामिल।

Income Tax raids on Dainik Bhaskar Media Group offices kpa
Author
Bhopal, First Published Jul 22, 2021, 9:13 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश के जाने-माने मीडिया ग्रुप दैनिक भास्कर पर आयकर ने शिकंजा कंसा है। गुरुवार को आयकर की टीम ने एक साथ भास्कर के भोपाल स्थित हेड ऑफिस सहित जयपुर, अहमदाबाद, नोएडा आदि के दफ्तरों पर एक साथ कार्रवाई की। ABP न्यूज के अनुसार, कार्रवाई जारी है। कार्रवाई में 100 से अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। सूत्रों के अनुसार छापे में कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिलने की बात सामने आई है। यूपी के एक टीवी चैनल भारत समाचार (Bharat Samachar) के ठिकानों पर भी छापे मारे गए। टीम ने इसके लखनऊ स्थित ऑफिस और संपादक के घर की तलाशी ली।

सरकार के सूत्रों की मानें तो दैनिक भास्कर समूह के मामलों में आयकर अधिनियम की धारा 132 के तहत तलाशी ली जा रही है। मुंबई, दिल्ली, भोपाल, इंदौर, जयपुर, कोरबा, नोएडा और अहमदाबाद शहरों में फैले आवासीय और व्यावसायिक परिसरों वाले कुल 32 परिसरों को कवर किया गया है।  बताया जा रहा है कि यह समूह विभिन्न क्षेत्रों में शामिल है. इसमें मीडिया, बिजली, कपड़ा और रियल एस्टेट का कारोबार प्रमुख है. इनका सालाना कारोबार 6000 करोड़ रुपये से अधिक है। समूह में होल्डिंग और सहायक कंपनियों सहित 100 से अधिक कंपनियां हैं।

सूत्रों के अनुसार फ्लैगशिप कंपनी डीबी कॉर्प लिमिटेड है, जो दैनिक भास्कर समाचार प्रकाशित करती है। कोयला आधारित बिजली उत्पादन व्यवसाय मेसर्स डीबी पावर लिमिटेड के नाम से किया जाता है। 

सरकारी सूत्रों ने बताया कि फर्जी खर्च और शेल संस्थाओं का उपयोग करके खरीद का दावा करके समूह द्वारा भारी कर चोरी के आरोप हैं। इस उद्देश्य के लिए समूह ने अपने कर्मचारियों के साथ शेयर धारकों और निदेशकों के रूप में कई पेपर कंपनियां बनाई हैं। इस तरह से निकाले गए धन को मॉरीशस स्थित संस्थाओं के माध्यम से शेयर प्रीमियम और विदेशी निवेश के रूप में विभिन्न व्यक्तिगत और व्यावसायिक निवेशों में वापस भेज दिया जाता है। परिवार के सदस्यों के नाम पनामा लीक मामले में भी सामने आए। विभागीय डेटा बेस बैंकिंग पूछताछ और अन्य असतत पूछताछ का विश्लेषण करने के बाद तलाशी का सहारा लिया गया है।

 

(भोपाल में ई-2, अरेरा कालोनी स्थित भास्कर के मालिकों का घर)

सुबह 4.30 बजे शुरू हुई कार्रवाई
इनकम टैक्स ने गुरुवार तड़के 4.30 बजे सर्च ऑपरेशन शुरू किया। टीम में दिल्ली और मुंबई के अधिकारी-कर्मचारी शामिल हैं। इस कार्रवाई में प्रवर्तन निदेशालय(ED) के अधिकारी भी शामिल हैं। कार्रवाई के दौरान अखबार में काम करने वाले कर्मचारियों के मोबाइल बंद कराकर जब्त कर लिए गए थे।


छापे के बाद ट्विटर पर छिड़ी बहस
दैनिक भास्कर पर आयकर के छापे के बाद सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई है। टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने ट्वीट किया,"पत्रकारों और मीडिया घरानों पर हमला लोकतंत्र को कुचलने का एक और क्रूर प्रयास है।

pic.twitter.com/xEO0cER3zN

दैनिक भास्कर के सभी दफ़्तरों में आयकर विभाग के छापा, दर्जनों चैनलों को अपने इशारों पर नचाने वाले एक अख़बार का सच तक बर्दाश्त नहीं कर सके।

कितने कमजोर, कायर और डरपोक लोग बैठे हैं सरकार में?

आपातकाल घोषित क्यूँ नहीं कर देते? अब बचा ही क्या है?

रेड जीवी जी,

प्रेस की आज़ादी पर कायरतापूर्ण हमला !

दैनिक भास्कर के भोपाल, जयपुर और अहमदाबाद कार्यालय पर अब इनकम टैक्स के छापे ।

लोकतंत्र की आवाज़ को “रेडराज” से नही दबा पाएँगे।#RaidOnFreePress

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios