Asianet News Hindi

कोरोना: प्रभावित देशों में भारत मौत-संक्रमण रोकने में सबसे ज्यादा कामयाब, 64 दिन में 100 से 1 लाख पहुंचे केस

भारत में कोरोना संक्रमण के 1 लाख से ज्यादा केस हो चुके हैं। अब तक 3164 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत केसों के मामले में दुनिया के सबसे ज्यादा संक्रमित देशों की सूची में 11वें नंबर पर पहुंच गया है। इन सबके बावजूद अन्य देशों से तुलना करें तो भारत की स्थिति अभी भी बेहतर नजर आ रही है।

india managed to stop death from corona, From 100 to 1 lakh COVID 19 cases in 64 days KPP
Author
New Delhi, First Published May 19, 2020, 1:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत में कोरोना संक्रमण के 1 लाख से ज्यादा केस हो चुके हैं। अब तक 3164 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत केसों के मामले में दुनिया के सबसे ज्यादा संक्रमित देशों की सूची में 11वें नंबर पर पहुंच गया है। इन सबके बावजूद अन्य देशों से तुलना करें तो भारत की स्थिति अभी भी बेहतर नजर आ रही है। भारत में 100 से 1 लाख तक मामले पहुंचने में 64 दिन का समय लगा। भारत कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में अमेरिका, ब्रिटेन, स्पेन से ज्यादा कामयाब रहा है। इसके अलावा भारत कोरोना से मौत को रोकने में भी कामयाब रहा है।
 




किस देश में कितने दिन में पहुंचे 100 से 1 लाख मामले?
भारत में मंगलवार को 1 लाख मामले पहुंच गए हैं। लेकिन भारत की स्थिति अन्य देशों से बेहतर नजर आ रही है। जर्मनी, अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन में भारत से अच्छी स्वास्थ्य व्यवस्थाएं होने के बावजूद संक्रमण की दर धीमी नजर आ रही है। 
 

देश   कितने दिन में 100 से 1 लाख पहुंचे मामले 
अमेरिका 25
स्पेन 30
जर्मनी 35
इटली 36
फ्रांस 39
ब्रिटेन 42
भारत   64

           
 मौत रोकने में भी कामयाब रहा भारत
अब तक के आंकड़ों को देखें तो भारत सबसे ज्यादा संक्रमित देशों में मौत रोकने में सबसे ज्यादा कामयाब रहा है। स्पेन इस मामले में सबसे आगे है। स्पेन में हर 10 लाख लोगों पर 593 की मौत हो रही है। वहीं, ब्रिटेन में 513 लोगों की मौत हो रही है। अमेरिका में यह आंकड़ा 278 है। वहीं, इटली में 10 लाख लोगों पर 529 और फ्रांस में 433 लोगों की जान जा रही है। भारत इस मामले में अब तर काफी सफल नजर आ रहा है। भारत में 10 लाख लोगों पर सिर्फ 2 लोगों की मौत हो रही है। 
                   

देश कुल टेस्ट केस मौतें 10 लाख पर मौतें  रिकवरी रेट
अमेरिका 12300744 1550294 91981 278 22.9%
रूस 7147014 290678 2300 19  24.2%
स्पेन 3037840 278188 27709 593   70.8%
ब्राजील 735224 255368 16853 79   39.3%
ब्रिटेन 2682716 246406 34796 513   -
इटली 3041366 225886 32007 529 56.3%
फ्रांस 1384633 179927 28239 433 34.3%
जर्मनी  3147771 177289    8123   97 87.2%
तुर्की   1650135 150593 4171 50 74.09%
ईरान 701640 122492   7057   84  78.09%
भारत         2404267   101261 3164 2    38.74%


रिकवरी रेट भी बेहतर
भारत में  38.74% की दर से लोग ठीक हो रहे हैं। भारत में 101261 मामलों में 39,233 ठीक हो चुके हैं। वहीं, यह अमेरिका में यह दर  22.9% है। रूस में  24.2% की दर से लोग ठीक हो रहे हैं। रिकवरी रेट के मामले में जर्मनी सबसे आगे है। जर्मनी में 87.2% की दर से मरीज ठीक हो रहे हैं। इसके बाद ईरान, तुर्की, स्पेन में सबसे ज्यादा मरीज ठीक हो रहे हैं। 

भारत में आंकड़े क्यों बेहतर?
भारत भारत सरकार ने कोरोना के खिलाफ काफी सक्रियता से कदम उठाए। WHO से सभी देशों को एक साथ ही कोरोना वायरस के बारे में जानकारी मिली थी। लेकिन भारत सरकार ने तेजी दिखाते हुए कदम उठाए। अन्य देशों से उड़ानें रोकीं। अमेरिका, ब्रिटेन, इटली समेत बाकी देश इंतजार करते रहे। इन्होंने ठोस कदम उठाने में काफी देर कर दी। इसी का आज नतीजा भुगत रहे हैं। भारत में हेल्थ टीमें तेजी से काम कर रही हैं। अस्पताल बन रहे हैं। बेड बढ़ाए जा रहे हैं। रेलवे कोच में वार्ड में बन रहे हैं।

लॉकडाउन और सरकार द्वारा उठाए गए कदमों से मिली कामयाबी
माना जा रहा है कि भारत में कोरोना को फैलने से रोकने में लॉकडाउन ने अहम भूमिका निभाई। इससे ना केवल नए मामले तेजी से बढ़े, बल्कि संक्रमण की रफ्तार भी काफी कम हो गई है। इसके साथ ही भारत सरकार द्वारा स्क्रीनिंग, हॉटस्पॉट का चयन, मॉनिटरिंग, टेस्टिंग और स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने में जो कदम उठाए, वे सफल होते नजर आ रहे हैं। भारत में अब हर रोज 1 लाख से ज्यादा टेस्ट हो रहे हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios