नई दिल्ली. भारतीय वायु सेना ने बुधवार को 'मार्शल ऑफ़ द एयरफोर्स ' (Marshal of the AirForce) के नाम से मशहूर दिवंगत अफसर अर्जनसिंह (Major Arjan singh) को उनकी तीसरी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की है। अर्जनसिंह को 1965 के भारत-पाक युद्ध में उनकी सेवा के लिए पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। साल 2017 में 98 साल की उम्र में उनका दिल्ली में निधन हो गया था।

अर्जन सिंह को वायुसेना का मार्शल कहा जाता है। उन्हें याद करते हुए वायुसेना ने लिखा कि '' वे नेतृत्व एवं व्यक्तित्व की वो मिसाल है जो आने वाली पीढियों का सदैव मार्ग दर्शन करेगी। उनके रणनीतिक कौशल एवं कर्त्तव्य निष्ठा के लिए भारतीय वायु सेना उन्हें नमन करती है।'' उन्होंने 1965 में भारत - पाकिस्तान युद्ध में अहम भूमिका निभाई थी। युद्ध के दौरान उन्होंने महज 26 मिनट में भारतीय वायुसेना के प्लेन्स को तैयार कर पाकिस्तान में बमबारी के लिए भेज दिये थे। युद्ध में निर्णायक भूमिका निभाने और वायुसेना का नेतृत्व करने के लिए उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।