Asianet News HindiAsianet News Hindi

चीन विवाद: अब माइनस 40 डिग्री में भी सीमा पर डटे रहेंगे जवान, सरकार ने बनाया ये नया प्लान

भारत और चीन के बीच विवाद कुछ थमता नजर आ रहा है। हालांकि, भारत चीन की हरकत पर लगातार नजर बनाए हुए है। हाल ही में चीनी सेना द्वारा हुईं झड़पों को देखते हुए भारत ने आईटीबीपी को जल्द ही आल वेदर कंट्रोल बार्डर आउटपोस्ट देने का फैसला किया है। इससे आसानी से चीन की सेना पर नजर रखी जा सकेगी।

Indian army will keep eye on china with integrated Border Outpost KPP
Author
New Delhi, First Published Jul 11, 2020, 12:12 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच विवाद कुछ थमता नजर आ रहा है। हालांकि, भारत चीन की हरकत पर लगातार नजर बनाए हुए है। हाल ही में चीनी सेना द्वारा हुईं झड़पों को देखते हुए भारत ने आईटीबीपी को जल्द ही आल वेदर कंट्रोल बार्डर आउटपोस्ट देने का फैसला किया है। इससे आसानी से चीन की सेना पर नजर रखी जा सकेगी। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने IIT की मदद से  लद्दाख में पहला आधुनिक आउटपोस्ट बना लिया है। इसकी टेस्टिंग के बाद ऐसी ही करीब 2 दर्जन पोस्ट बनाई जाएंगी।  

जवानों के लिए मददगार होगी साबित
लद्दाख में काफी ठंड रहती है। यहां तापमान सामान्यता शून्य के नीचे पहुंच जाता है। ऐसे में ये आधुनिक इंटीग्रेटड चेक पोस्ट जवानों के लिए काफी मददगार साबित होंगी। इन पोस्टों में तापमान 20 से 22 डिग्री तक रहेगा। इससे जवान आसानी से अपनी ड्यूटी कर सकेंगे। वे आसानी से सीमापार की गतिविधियों पर भी नजर बनाए रख सकेंगे। 

एक पोस्ट बनाने में आएगी 18 करोड़ रु की लागत
गृह मंत्रालय ने कुछ महीने पहले ही इस योजना को मंजूरी दी थी। ये आधुनिक आउटपोस्ट पेट्रोल, डीजल के बजाय सोलर एनर्जी और केरोसिन से भी चल सकता है। भारत चीन के बीच चल रहे विवाद को देखते हुए इसे जल्द पूरा करने के लिए कहा गया है। एक पोस्ट की लागत करीब 18 करोड़ रुपए है। 

पैंगोंग झील के पास होगा तैयार
लद्दाख में यह इंटीग्रेटेड बार्डर आउटपोस्ट एलएसी से नजदीक लुकुंग में बनाया जाएगा। इस पोस्ट के आसपास पैंगोंग झील के कई इलाके आते हैं। इस साल के अंत तक इसका काम पूरा हो जाएगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios