अबू धाबी. अमेरिका से चल रहे विवाद के बीच ईरान ने मंगलवार को संयुक्‍त अरब अमीरात (UAE) में बने फ्रांस के अल अल दाफरा एयर बेस के पास मिसाइलें दागीं। इसी एयरबेस पर फ्रांस से भारत आ रहे 5 राफेल विमान खड़े थे। ईरान के मिसाइल परीक्षण के बाद फ्रांसीसी बेस को अलर्ट पर रख दिया गया। यहां भारतीय पायलट भी मौजूद थे। ऐसे में सभी को सुरक्षित स्थानों पर रहने के लिए कहा गया। 

अमेरिकी सेंट्रल कमांड ने ईरानी मिसाइल टेस्‍ट की पुष्टि की। बताया जा रहा है कि अलसुबह में ईरानी सेना सैन्य अभ्यास कर रही है।  स्‍ट्रेट ऑफ हरमुज के पास ईरान ने कई मिसाइलें दागी। यह जगह खाड़ी में स्थित अमेरिकी और फ्रांसीसी सैन्‍य ठ‍िकानों के पास है। वहीं, तीन मिसाइलों के समुद्र में गिरने की भी खबर सामने आ रही है। 

अल दाफरा के पास गिरीं मिसाइलें
 ईरानी मिसाइलें कतर के अल उदेइद और यूएई के अल दाफरा एयरबेस के पास गिरीं। अल दाफरा में ही भारतीय वायुसेना के राफेल फाइटर जेट खड़े थे। 5 राफेल ने 27 जुलाई को यूएई से उड़ान भरी थी। ये सभी अभी यूएई में ही हैं। यहां से 11 बजे भारत के लिए उड़ान भरेंगे। 

अंबाला में होंगे तैनात
राफेल के पहले बैच को अंबाला एयरबेस पर तैनात किया जा रहा है। इसके पीछे खास वजह है कि यहां से चीन और पाकिस्तान की सीमा सिर्फ 200 किमी दूर है। भारत की पश्चिमी सीमा से अंबाला एयरबेस सिर्फ 200 किमी दूर है। यहां से पाकिस्तान का सरगोधा एयरबेस भी नजदीक है। अंबाला में तैनाती से पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान के साथ साथ चीन पर भी तेजी से एक्शन लिया जा सकता है। अंबाला एयरबेस से चीन का गर गुंसा एयरबेस सिर्फ 300 किमी दूर है।