Asianet News HindiAsianet News Hindi

विकास दुबे का मुखबिर एसओ और बीट इंचार्ज गिरफ्तार, जानिए एनकाउंटर के वक्त कैसे बची उनकी जान?

कानपुर में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में विकास दुबे फरार चल रहा है। विकास दुबे की मदद करने के आरोप में पूर्व एसओ विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। 

Kanpur Encounter found police personnel had informed Vikas Dubey kpn
Author
New Delhi, First Published Jul 8, 2020, 5:43 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कानपुर में 8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में विकास दुबे फरार चल रहा है। विकास दुबे की मदद करने के आरोप में पूर्व एसओ विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। 

एनकाउंटर के दोनों मौजूद थे, बीच में ही चले गए
कानपुर शूटआउट मामले में चौबेपुर के पूर्व एसओ विनय तिवारी और बीट इंचार्ज केके शर्मा पर बड़ी साजिश रचने का आरोप है। ये दोनों एनकाउंटर के वक्त मौजूद थे लेकिन बीच में ही उस जगह को छोड़कर चले गए थे।

Kanpur Encounter found police personnel had informed Vikas Dubey kpn

 

चौबेपुर थाने के बिकरू गांव में हुई घटना
कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव में हुई घटना के बाद सबसे पहले पुलिस पर शक हुआ। शक एसओ चौबेपुर विनय तिवारी पर हुआ। उन्हें निलंबित किया गया। फिर हिरासत में लेकर पूछताछ हुई तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। 

थाने के 68 लोग लाइन हाजिर
8 पुलिसवालों की हत्या के मामले में एसओ विनय तिवारी, दारोगा कुंवर पाल, केके शर्मा, सिपाही राजीव चौधरी पहले ही निलंबित किए जा चुके हैं। इनके अलावा एसएसपी ने पूरे थाने के बाकी 68 स्टाफ को भी लाइन हाजिर किया। अब चौबेपुर थाने में 55 नए पुलिसकर्मियों की तैनाती की गई है।

Kanpur Encounter found police personnel had informed Vikas Dubey kpn

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios