कानपुर. गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश में पुलिस उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा राजस्थान में लगातार छापेमारी कर रही है। बताया जा रहा है कि विकास दुबे को हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में देखा गया। पुलिस ने यहां दबिश डालकर उसके दो साथियों को गिरफ्तार भी कर लिया है। साथियों से पता चला है कि उनके साथ विकास दुबे भी था, लेकिन वह पुलिस के आने से पहले भाग निकला। 

इससे पहले उत्तर प्रदेश एसटीएफ को बुधवार को बड़ी कामयाबी मिली। एसटीएफ ने विकास दुबे के करीबी अमर दुबे को मुठभेड़ में मार गिराया। बताया जा रहा है कि मुठभेड़ उत्तर प्रदेश के हमीरपुर में हुई। अमर दुबे विकास का काफी करीबी माना जाता है, वह बिकरू गांव में पुलिसकर्मियों की हत्या में भी शामिल था। 

Kanpur encounter Vikas Dubey close aide Amar Dubey killed in an encounter with STF KPP

फरीदाबाद से भाग निकला विकास दुबे!
इससे पहले पुलिस को विकास दुबे के फरीदाबाद में छिपे होने की खबर मिली थी। पुलिस ने फरीदाबाद के बड़खल चौक स्थित एक होटल में छापा मारा। होटल की तलाशी ली गई। लेकिन पुलिस को कमरे खाली मिले। हालांकि, पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। ये दोनों विकास दुबे के साथी बताए जा रहे हैं। सीसीटीवी में विकास दुबे जैसा एक शख्स नजर आ रहा है। पुलिस ने डीवीआर को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। 

तीन साथी गिरफ्तार
एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया, फरीदाबाद में मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने 3 को गिरफ्तार किया है। इनके पास 9 एमएम की 2 सरकारी पिस्टल, 44 जिंदा कारतूस बरामत हुए हैं। पुलिस ऐसी कार्रवाई कर रही है कि कानपुर की घटना में जो भी लोग शामिल हैं उन्हें हमेशा पछतावा होगा। 

गैंगस्टर को पकड़ने गई थी पुलिस, मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद हुए
कानपुर देहात के बिकरू गांव में पुलिस गैंगस्टर विकास दुबे को पकड़ने गई थी। लेकिन विकास को इसकी सूचना पहले से लग गई। विकास और उसके साथी पहले से तैनात हो गए। जैसे ही पुलिस विकास के घर पहुंची। विकास और उसके आसपास के घरों से फायरिंग शुरू हो गई। इसमें सीओ समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। हमलावर पुलिस के हथियार भी लूट ले गए।