बेंगलुरु. कर्नाटक सरकार ने 1 जून से राज्य में मंदिरों को खोलने का ऐलान किया है। 31 मई को लॉकडाउन का चौथा चरण खत्म हो रहा है। ऐसे में अब ये माना जा सकता है कि बेंगलुरु में अब लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। हालांकि, राज्य सरकार ने साफ कर दिया है कि दर्शन के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा।

राज्य के मंत्री कोटा श्रीनिवास पुजारी ने बताया, कर्नाटक सरकार ने 1 जून से मंदिर खोलने का फैसला किया है। लेकिन एसओपी का पालन करना होगा। जल्द ही सरकार इसके दिशा निर्देश जारी करेगी। 31 मई तक सभी जरूरी तैयारियां कर ली जाएंगी। इसके अलावा कल से 52 मंदिरों में ऑनलाइन सेवा बुकिंग शुरू की जाएगी। 

 


25 मार्च से पूरे देश में बंद हैं धार्मिक स्थल
कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में 25 मार्च को लॉकडाउन लगाया गया था। सरकार ने लॉकडाउन में अन्य गतिविधियों की तरह धार्मिक स्थलों और आयोजनों को भी बंद रखने का फैसला किया गया था। अन्य चरणों की तरह लॉकडाउन के चौथे चरण में भी मंदिरों को बंद रखने का फैसला किया गया था। ऐसे में मंदिर खोलने का फैसला करने वाला कर्नाटक पहला राज्य बन गया है। 

कर्नाटक में कोरोना संक्रमण
कर्नाटक में कोरोना के अब तक 2282 मामले सामने आए हैं। यहां अब तक 722 लोग ठीक हो चुके हैं। जबकि राज्य में महामारी से 44 लोगों की मौत हुई है। अभी 1514 लोगों का इलाज चल रहा है। राज्य में बेंगलुरु में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं। यहां अब तक 278 केस मिल चुके हैं। हालांकि, इनमें 149 लोग ठीक हो चुके हैं। 10 लोगों की मौत हुई है।