Asianet News HindiAsianet News Hindi

केरल में नेहरू ट्राफी वोट रेस में अमित शाह के आमंत्रण पर रार, कांग्रेस बोली-Left-BJP का अपवित्र गठजोड़ हुआ

अमित शाह को दक्षिणी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ 4 सितंबर को अलाप्पुझा में पुन्नमदा झील में वाटर स्पोर्ट्स देखाने के लिए आमंत्रित किया गया है। दरअसल, गृहमंत्री अमित शाह एक दिन पहले 30 वीं दक्षिणी क्षेत्रीय परिषद की बैठक में भाग लेने के लिए केरल में होंगे।

Kerala Colourful water sport race row on Amit Shah invitation, Congress alleged Left government, DVG
Author
First Published Aug 27, 2022, 10:34 PM IST

Nehru Trophy Colourful Water Sport Race:केरल (Kerala) में वाम सरकार (Left Government) द्वारा केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) को निमंत्रित किए जाने पर बवाल मचा हुआ है। कांग्रेस (Congress alleged Left government) ने वाम सरकार पर बीजेपी के साथ गठजोड़ का आरोप लगाया है। दरअसल, राज्य की वाम मोर्चे की सरकार ने नेहरू के नाम पर आयोजित होने वाले वाटर स्पोर्ट्स रेस में अमित शाह को इनवाइट किया है। वामपंथी सरकार के बुलावे को लेकर विपक्षी कांग्रेस ने निशाना साधा है।

उधर, सरकार ने निर्णय का बचाव करते हुए कहा कि शाह को दक्षिणी राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ 4 सितंबर को अलाप्पुझा में पुन्नमदा झील में शानदार कार्यक्रम देखने के लिए आमंत्रित किया गया है। सरकार ने कहा कि गृहमंत्री, एक दिन पहले 30 वीं दक्षिणी क्षेत्रीय परिषद की बैठक में भाग लेने के लिए राज्य में होंगे।

कांग्रेस ने सांप्रदायिक ताकतों से मिलने का लगाया आरोप

कांग्रेस ने केरल की पिनाराई विजयन सरकार पर सांप्रदायिक ताकतों के साथ गठजोड़ करने का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने कहा कि वाम मोर्चा ने केंद्र में बीजेपी सरकार से पैक्ट कर लिया है। केंद्रीय गृह मंत्री को दिया गया निमंत्रण वाम सरकार की बीजेपी के प्रति वफादारी व उनके प्रति प्यार को दर्शाता है। 

सुधाकरन बोले-पोलित ब्यूरो को जवाब देना चाहिए

केपीसीसी प्रमुख के सुधाकरन ने माकपा महासचिव सीताराम येचुरी से इस मामले में स्पष्टीकरण देने की मांग की है। सुधाकरन ने पूछा कि क्या माकपा केरल इकाई द्वारा संघ परिवार के नेताओं को अत्यधिक महत्व पार्टी के पोलित ब्यूरो के आशीर्वाद से दिया गया है। कांग्रेस चीफ ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री ने उन लोगों को इनवाइट किया है जिन्होंने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को सबसे अधिक उपेक्षा की है, उनका सबसे अधिक अपमान किया है। यह बेहद आपत्तिजनक है कि नेहरू के नाम पर आयोजित नाव रैली में अमित शाह मुख्य अतिथि होंगे।

नेता प्रतिपक्ष ने मांगा जवाब

केरल विधानसभा में विपक्ष के नेता वीडी सतीसन ने वाम सरकार पर बड़ा आरोप लगाया है। सतीसन ने कहा कि सीएम पिनाराई विजयन को अमित शाह के बुलाने का कारण स्पष्ट करना चाहिए। क्या यह लवलिन केस या उनके खिलाफ गोल्ड स्मगलिंग केस के लिए बुलाया गया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में सीपीआई एम और संघ परिवार के बीच एक अपवित्र संबंध है। मुख्यमंत्री और माकपा को इस अवसरवादी रुख का जवाब देना चाहिए।

क्यों प्रसिद्ध है नेहरू ट्राफी नौका दौड़?

दरअसल, स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू पहली बार केरल के दौरे पर थे। 1952 में कुट्टनाड की अपनी यात्रा पर पहुंचे जवाहर लाल नेहरू के लिए एक नाव दौड़ का आयोजन किया गया था। उस दौरान कोट्टायम से अलाप्पुझा जाते समय बड़े-बड़े स्नेक बोट्स ने उनको पूरे उत्साह के साथ एस्कॉर्ट किया था। नेहरू ने उस समय विजेताओं को सम्मानित करते हुए रोलिंग ट्राफी प्रदान की थी। इसके बाद उनके नाम पर इस ट्राफी को 'नेहरू ट्रॉफी' नाम दिया गया।

यह भी पढ़ें:

कांग्रेस में अगला अध्यक्ष चुने जाने के लिए कवायद तेज, CWC रविवार को जारी कर सकती शेड्यूल

भारत सरकार ने ट्वीटर में एजेंट नियुक्त करने के लिए नहीं किया अप्रोच, संसदीय पैनल से आरोपों को किया खारिज

किसी एक फैसले से ज्यूडशरी को परिभाषित करना ठीक नहीं, कई मौकों पर न्यायपालिका खरी नहीं उतरी: एनवी रमना

वंदे भारत एक्सप्रेस और Train 18 ने देश की सबसे तेज स्पीड वाली शताब्दी एक्सप्रेस का रिकार्ड तोड़ा, देखिए वीडियो

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios