Asianet News Hindi

चुनाव हारने के बावजूद बुधवार को CM पद की शपथ लेंगी ममता बनर्जी, गांगुली समेत इन लोगों को भेजा गया न्योता

तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी बुधवार को प बंगाल की मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगी। शपथ ग्रहण सुबह 10.45 बजे राजभवन के टाउन हॉल में होगा। ममता बनर्जी तीसरी बार राज्य की मुख्यमंत्री बनेंगी। 

Mamata Banerjee to take oath as West Bengal CM for the third term on May 5 KPP
Author
New Delhi, First Published May 4, 2021, 10:48 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी बुधवार को प बंगाल की मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगी। शपथ ग्रहण सुबह 10.45 बजे राजभवन के टाउन हॉल में होगा। ममता बनर्जी तीसरी बार राज्य की मुख्यमंत्री बनेंगी। 

ममता बनर्जी शपथ के बाद सचिवालय जाएंगी। हालांकि, बाकी विधायकों का शपथ ग्रहण गुरुवार और शुक्रवार को होगा। 

चुनाव हारने के बावजूद सीएम पद की शपथ लेंगी ममता 
ममता बनर्जी के नेतृत्व में भले ही इस चुनाव में टीएमसी ने शानदार प्रदर्शन किया हो, इसके बावजूद वे खुद नंदीग्राम से चुनाव हार गई हैं। ममता को करीबी मुकाबले में सुवेंदु अधिकारी ने मात दी। अब ममता बनर्जी विधायक नहीं है, ऐसे में वे सीएम पद की शपथ तो ले सकती हैं, लेकिन संविधान के मुताबिक, उन्हें अगले 6 महीने में उन्हें चुनाव जीतना होगा। 

शपथ ग्रहण के लिए इन लोगों को भेजा गया न्योता
ममता के शपथ ग्रहण में प्रशांत किशोर समेत टीएमसी के बड़े नेता शामिल होंगे। इसके अलावा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, पूर्व सीएम बुद्धदेव भट्टाचार्य, भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष को आमंत्रण दिया गया है। 

तीसरी बार मुख्यमंत्री बनेंगी ममता बनर्जी
ममता बनर्जी लगातार तीसरी बार राज्य की मुख्यमंत्री बनेंगी। वे 2011 में लेफ्ट के शासन को उखाड़ कर सीएम बनी थीं। दूसरी बार 2016 में अब 2021 में तीसरी बार सीएम बनने जा रही हैं। ममता बनर्जी ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत कांग्रेस से की थी। लेकिन 1997 में वे कांग्रेस से अलग हो गईं और उन्होंने टीएमसी की 1998 में स्थापना की। 

एनडीए सरकार में रहीं मंत्री
ममता बनर्जी अटल बिहारी वायपेयी सरकार में रेल मंत्री रहीं। हालांकि, बाद में उन्होंने यूपीए को समर्थन किया। लेकिन 2009 में वे यूपीए से भी अलग हो गईं।

3-77 पर पहुंची भाजपा 
प बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे 2 मई को आए। इस चुनाव में टीएमसी ने 213 सीटें जीतीं। वहीं भाजपा 77 सीटों पर जीत हासिल करने में सफल रही। वहीं, कांग्रेस और लेफ्ट का सूपड़ा साफ हो गया। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios