Asianet News Hindi

घुसपैठ कराने में नाकाम पाक सेना की सीमा पर दिख रही झुंझलाहट, 2019 की तुलना में इस साल दोगुनी बार की फायरिंग

पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहा है। इतना ही नहीं, पिछली साल की तुलना में पाकिस्तान ने इस बार जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर करीब दोगुनी बार फायरिंग की। यह जानकारी बीएसएफ के डाटा से सामने आई है।

Massive spike in cross border firing by Pak shows its desperation to infiltrate terrorists says BSF data KPP
Author
New Delhi, First Published Dec 9, 2020, 6:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पाकिस्तान आतंकियों की घुसपैठ कराने के लिए लगातार सीजफायर उल्लंघन कर रहा है। इतना ही नहीं, पिछली साल की तुलना में पाकिस्तान ने इस बार जम्मू कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर पर करीब दोगुनी बार फायरिंग की। यह जानकारी बीएसएफ के डाटा से सामने आई है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जम्मू में तैनात एक वरिष्ठ अफसर ने बताया, पाकिस्तानी सुरक्षाबल आतंकियों को घुसपैठ कराने के लिए लगातार फायरिंग करते हैं। लेकिन जवाबी कार्रवाई के चलते उन्हें सफलता नहीं मिल पा रही है। इसी वजह से पाकिस्तानियों की ओर से इस बार फायरिंग की घटनाओं में इजाफा हुआ है। 

इस साल फायरिंग की 315 घटनाएं हुईं
बीएसएफ के डाटा के मुताबिक, पाकिस्तान ने इस साल अक्टूबर तक अकेले जम्मू से लगी सीमा पर 314 बार फायरिंग की। वहीं, पिछले साल इस समय तक फायरिंग की सिर्फ 185 घटनाएं हुई थीं। 

जून से भारतीय नागरिकों और सुरक्षाबलों को बना रहा निशाना
बीएसएफ के डाटा के मुताबिक, इस साल जून से पाकिस्तान लगातार भारतीय सुरक्षाबलों और नागरिकों को निशाना बना रहा है। हालांकि, बीएसएफ हर बार कड़ा जवाब दे रही है। जून में पाकिस्तान ने 36 बार फायरिंग की, जबकि 2019 में इसी महीने में सिर्फ 9 बार इस तरह की घटनाएं सामने आई थीं। पाकिस्तान ने सबसे ज्यादा अक्टूबर में 65 बार फायरिंग की, जबकि 2019 में इसकी तुलना में 47 घटनाएं सामने आई थीं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios