Asianet News Hindi

तब्लीगी जमात से जुड़े होने के चलते 2200 विदेशी नागरिक ब्लैक लिस्टेड, 10 साल तक नहीं आ सकेंगे भारत

भारत में मार्च में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने की शुरुआत हुई थी। उसी दौरान दिल्ली के निजामुद्दीन में बड़ी संख्या में लोग जुटे थे। इनमें से ज्यादातर लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद यह जगह खाली कराई गई थी। इस जमात में शामिल हुए तमाम लोग अपने घर भी लौट गए थे।

MHA blacklists 2200 foreign Tablighi Jamaat members, bans entry into India for 10 years KPP
Author
New Delhi, First Published Jun 4, 2020, 5:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. तब्लीगी जमात में  शामिल होने भारत आए विदेशी नागरिकों पर गृह मंत्रालय ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने तब्लीगी जमात से जुड़े होने के कारण 2200 विदेशी नागरिकों को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है। अब ये लोग 10 साल तक भारत नहीं आ पाएंगे। मंत्रालय के सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी। 

इससे पहले विदेशी नागरिकों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने चार्जशीट दाखिल की थी। चार्जशीट में पुलिस ने सभी आरोपियों को वीजा कानून का उल्लंघन करते हुए पाया था। इसलिए सरकार ने इन लोगों का वीजा रद्द कर दिया था।

चार्जशीट में लगाए गए ये आरोप
पुलिस ने चार्जशीट में आरोपियों के खिलाफ वीजा के नियमों के उल्लंघन का आरोप, वीजा के नियमों के उल्लंघन का आरोप,  आपदा प्रबंधन कानून का उल्लंघन, खतरनाक बीमारी के संक्रमण के मामले में लापरवाही बरतने का आरोप, धारा 144 का उल्लंघन जैसे आरोप लगाए हैं। 

दिल्ली में जुटे थे तब्लीगी जमात के लोग
भारत में मार्च में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने की शुरुआत हुई थी। उसी दौरान दिल्ली के निजामुद्दीन में बड़ी संख्या में लोग जुटे थे। इनमें से ज्यादातर लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके बाद यह जगह खाली कराई गई थी। इस जमात में शामिल हुए तमाम लोग अपने घर भी लौट गए थे। इसके बाद सभी राज्यों ने अपने अपने यहां तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों को खोजा था। इनमें से कई सदस्य संक्रमित मिल थे।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios