Asianet News Hindi

चप्पे-चप्पे पर CCTV की नजर, जानिए कैसे हैं सांसदों के फ्लैट्स, जिसका पीएम मोदी ने किया उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संसद सदस्यों के लिए दिल्ली के डॉ. बी डी मार्ग में स्थित बहुमंजिला फ्लैटों का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा, दिल्ली में जनप्रतिनिधियों के लिए आवास की इस नई सुविधा के लिए आप सभी को बधाई। आज हमारे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला जी की जन्मदिन भी है। उन्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।दिल्ली के बीडी मार्ग पर गंगा यमुना सरस्वती के नाम से तीन टावर बनाए गए हैं, जिसमें सांसदों के 76 आवास तैयार किए गए हैं।

Modi will inaugurate multi-storeyed flats for Members of Parliament kpn
Author
New Delhi, First Published Nov 23, 2020, 7:56 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संसद सदस्यों के लिए दिल्ली के डॉ. बी डी मार्ग में स्थित बहुमंजिला फ्लैटों का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा, दिल्ली में जनप्रतिनिधियों के लिए आवास की इस नई सुविधा के लिए आप सभी को बधाई। आज हमारे लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला जी की जन्मदिन भी है। उन्हें जन्मदिन की बहुत-बहुत शुभकामनाएं।दिल्ली के बीडी मार्ग पर गंगा यमुना सरस्वती के नाम से तीन टावर बनाए गए हैं, जिसमें सांसदों के 76 आवास तैयार किए गए हैं। 

 

"इस सरकार के दौरान कई इमारतों का निर्माण हुआ"

पीएम मोदी ने कहा, कई इमारतों का निर्माण इस सरकार के दौरान शुरू हुआ और तय समय से पहले समाप्त भी हुआ। अटल जी के समय जिस अंबेडकर नेशनल मेमोरियल की चर्चा शुरू हुई थी, उसका निर्माण इसी सरकार में हुआ। 23 वर्षों के लंबे इंतजार के बाद डॉक्टर अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर का निर्माण इसी सरकार में हुआ।

 

"इसी सरकार में वॉर मेमोरियल का निर्माण हुआ"

पीएम मोदी ने कहा, सेंटर इन्फॉर्मेशन कमीशन की नई बिल्डिंग का निर्माण इसी सरकार में हुआ। देश में दशकों से वॉर मेमोरियल की बात हो रही थी। देश के वीर शहीदों की स्मृति में इंडिया गेट के पास वॉर मेमोरियल का निर्माण इसी सरकार में हुआ।

 

"दशकों से चली आ रही समस्याएं टाली नहीं"

दशकों से चली आ रही समस्याएं, टालने से नहीं, उनका समाधान खोजने से समाप्त होती हैं। सिर्फ सांसदों के निवास ही नहीं, बल्कि यहां दिल्ली में ऐसे अनेकों प्रोजेक्ट्स थे, जो कई-कई बरसों से अधूरे थे।

संसद की इस प्रोडक्टिविटी में आप सभी सांसदों ने प्रोडक्ट्स और प्रोसेस दोनों का ही ध्यान रखा है। हमारी लोकसभा और राज्यसभा, दोनों के ही सांसदों ने इस दिशा में एक नई ऊंचाई हासिल की है। सामान्य तौर ये कहा जाता है कि युवाओं के लिए 16-17-18 साल की उम्र, जब वो 10th-12th में होते हैं, बहुत महत्वपूर्ण होती है। अभी 2019 के चुनाव के साथ ही हमने 16वीं लोकसभा का कार्यकाल पूरा किया है। ये समय देश की प्रगति के लिए, देश के विकास के लिए बहुत ही ऐतिहासिक रहा है।

फ्लैट में हैं 4 बेडरूम

सांसदों के फ्लैंट में 4 बेडरूम के अलावा ऑफिस भी बनाया गया है। दो स्टाफ के लिए अलग से स्टाफ क्वार्टर है। दो बालकनी और दो हॉल 4 टॉयलेट भी बने हैं। पूजा घर अलग से बनाया गया है। 

218 करोड़ की लागत से बने 76 फ्लैट
लोक सभा स्पीकर ओम बिरला ने बताया कि 76 फ्लैट बनाने के लिए 218 करोड़ रुपए की लागत लगी है। हालांकि इसमें 30 करोड़ रुपए की बचत की गई है। 

सांसदों के ये आवास ग्रीन बिल्डिंग कॉसेप्ट पर आधारित हैं। हर टावर में चार लिफ्ट लगाई गई है। दोनों तरफ सीढ़ियां बनाई गई हैं। गंगा, यमुना और सरस्वती के नाम से तैयार तीनों टावर सुरक्षा के लिहाज से फुलप्रूफ हैं।

चप्पे-चप्पे पर सीसीटीवी की नजर
हर जगह सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। हर टावर के ऊपर सोलर पैनल लगाए गए हैं। बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर पर पार्किंग की व्यवस्था है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios