Asianet News Hindi

दिग्विजय सिंह ने मोहर्रम को पावन अवसर बताया, लोग बोले- आज दुख का दिन, आपको ये भी नहीं मालूम

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपने बयानों के चलते चर्चा में रहते हैं। इस बार वे मोहर्रम की बधाई देकर यूजर्स के निशाने पर आए। दरअसल, दिग्विजय सिंह ने मोहर्रम पर मुस्लिमों को बधाई देते हुए ट्वीट किया।

muharram, mp former cm digvijay singh, digvijay singh trolled, digvijay give salami on muharram
Author
Bhopal, First Published Sep 11, 2019, 11:55 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अपने बयानों के चलते चर्चा में रहते हैं। इस बार वे मोहर्रम की बधाई देकर यूजर्स के निशाने पर आए। दरअसल, दिग्विजय सिंह ने मोहर्रम पर मुस्लिमों को बधाई देते हुए ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, ''सभी मुस्लिम भाईयों और बहनों को मुहर्रम के पावन अवसर पर हमारी सलाम।'' इस ट्वीट के बाद वे यूजर्स के निशाने पर आ गए। यूजर्स ने कहा लिखा, आपको इतना भी नहीं पता कि मोहर्रम दुख का दिन होता है।

एक यूजर ने लिखा,  ''वाह! कमाल होगया.. शिया मुसलमानों की प्रायश्चित का दिन को खुशी की मौका और पवन अवसर बताकर दिग्गी राजा ने कांग्रेस पार्टी को और 3 फुट नीचे दफना दिया है। क्या troll किया है मुसलमानों का ??''

भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने लिखा, 'दिग्विजय सिंह आज दुख का दिन है। इतना भी नहीं मालूम दिग्विजय जी।' 

एक अन्य यूजर ने लिखा- शहीद दिवस" को राजा जी आप  "पावन अवसर" कैसे लिख सकते हो ? अन्य यूजर ने लिखा, तुम न तो हिन्दू बन पाए और ना मुसलमान।
 
मोहर्रम पर मनाया जाता है मातम
कर्बला की जंग (680 ईसवी) में पैगंबर हजरत मोहम्मद के नाती इमाम हुसैन को मोहर्रम के महीने में ही परिवार और दोस्तों के साथ शहीद कर दिया गया था। यह जंग इमाम हुसैन और बादशाह यजीद की सेना के बीच हुई थी। मुस्लिम हुसैन की शहादत को उन्हें याद करते हैं। मोहर्रम के दिन जुलूस निकालकर शिया समुदाय दुख मनाते हैं। वो खुद को कोड़े मारते हैं और उस तकलीफ से पैगंबर से माफी मांगते हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios